Breaking News

जिस लाभार्थी को सचिव ने बताया अपात्र, उसे एडीओ ने अपनी जांच में पाया पात्र



बेल्थरारोड, बलिया। जिस लाभार्थी को सचिव ने अपने जांच रिपोर्ट में अपात्र बताया, उसी को एडीओ ने अपनी जांच आख्या में पात्र बताया है। ऐसा मामला विकास खंड नगरा के ग्राम पंचायत ताड़ी बड़ा गांव में सामने आया है। ग्राम पंचायत ताड़ीबड़ा गांव में लाभार्थी ने जिलाधिकारी बलिया को पत्र सौंपकर पात्र से अपात्र बनाये जाने की जांच की मांग की है। जिलाधिकारी के निर्देश पर लाभार्थी के शिकायत को गंभीरता से लेते हुए सीडीओ ने जांच का निर्देश दिया है,जिससे सम्बंधित कर्मियों में खलबली मची हुई है।

         विकास खंड नगरा में पात्र लाभार्थी को अपात्र बनाने का खेल जारी है। विकास खण्ड क्षेत्र के ताड़ीबड़ा गांव निवासी राम सिंहासन राजभर ने 11 जनवरी 2021 को जिलाधिकारी बलिया को शिकायती पत्र सौंपा है।शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि प्रार्थी आवासहीन है,अपने परिवार के साथ झोपड़ी में रहकर गुजर बशर करता है। प्रार्थी का 2011 की सूची में क्रमांक 294 रजि. आईडी 132914367 पर नाम अंकित है। प्रार्थी को सचिव द्वारा जांच में अपात्र घोषित कर दिया गया है। शिकायती पत्र को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने सीडीओ को जांच का निर्देश दिया था। सीडीओ ने शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए बीडीओ नगरा को जांच करने का निर्देश  दिया था। बीडीओ के निर्देश पर एडीओ पंचायत नगरा ने जांच की तो जांच रिपोर्ट में राम सिंहासन के पास मात्र दो झोपडी है। एडीओ ने खण्ड विकास अधिकारी को जांच आख्या सौंप दी है।बीडीओ प्रवीणजीत ने बताया कि सीडीओ के निर्देश पर जांच एडीओ पंचायत से कराई गई। एडीओ पंचायत की रिपोर्ट में लाभार्थी पात्र है।जांच आख्या सीडीओ को भेज रहे है।

                                 


संतोष द्विवेदी

No comments