Breaking News

> > >

सामाजिक कुरीतियो से लड़ कर ही अच्छे समाज का निर्माण किया जा सकता है: डॉ के के सिंह


बेल्थरारोड, बलिया। श्री नरहेजी स्नातकोत्तर महाविद्यालय नरही का राष्ट्रीय सेवा योजना के दोनों इकाईयों के सात दिवसीय शिविर का समापन रविवार को प्राथमिक विद्यालय नरही पर किया गया। इसमें एनएसएस के दोनों इकाई के शिविरार्थियों से सेवा योजना के क्रियाकलापों को अपने जीवन में उतारने के लिए प्रेरित किया गया। समापन कार्यक्रम का शुभारम्भ एनएसएस के जिले के नोडल अफसर व बजरंग पीजी कालेज सिकंदरपुर के राजनीति विज्ञान के अध्यक्ष डॉ के के सिंह व प्राचार्या डॉ सुशीला सिंह ने मां सरस्वती के छायाचित्र पर दीप प्रज्ज्वलन व पुष्प अर्पित कर किया।

          कार्यक्रम को गति देते हुए स्वयंसेवक शशिकांत ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया। इसके बाद स्वयंसेविका अंतिमा सिंह ने सात दिवसीय शिविर में किए कार्यक्रमों एवं प्रमुख गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यक्रम में जूही एवं खुश्बू ने हम होंगे कामयाब एक दिन, प्रियंका ने ओ मां ओ मां पास बुलाती है व पूनम, नीलम एवं सहेलियों ने वन्दे मातरम् वन्दे मातरम् गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में नीलम, पूनम एवं सहेलियों ने लघु नाटिका बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ तथा अफसाना व सहेलियों ने भ्रूण हत्या पर प्रहसन प्रस्तुत कर उपस्थित लोगो का मन मोह लिया।मुख्य अतिथि डॉ के के सिंह ने कहा कि प्रत्येक छात्र-छात्रा को समाज में फैली कुरीतियों से लड़कर एक अच्छे समाज का निर्माण करना चाहिए। उन्होंने विश्व में फैले कोरोना महामारी की समस्या और शिक्षा के बारे में विस्तार से चर्चा की। कहे कि आर्थिक और सामाजिक रीतियों को संजोए रखकर इस देश का अच्छा निर्माण कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा से हमारा तात्पर्य व्यक्तित्व विकास से है। रटी हुई विद्या व किताबी ज्ञान से सबकुछ नहीं हासिल किया जा सकता है। इसलिए सामाजिक ज्ञान की आवश्यकता है।साथ ही उन्होंने राष्ट्रीय सेवा योजना के विभिन्न क्रियाकलापों को अपने जीवन में उतारने की सलाह दी।डॉ बलिराम राय, डॉ शोभा सिंह, राम जी सिंह, यास्मीन बानो, कृष्णा यादव, आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता प्राचार्या डॉ सुशीला सिंह एवं संचालन कार्यक्रम अधिकारीडॉ कृष्ण मोहन सिंह ने किया। अंत में कार्यक्रम अधिकारी डॉ श्वेता सिंह ने सबके प्रति आभार व्यक्त किया।

                                   


संतोष द्विवेदी

No comments