Breaking News

> > >

मानक पर खरा उतरने वाले विद्यालय ही बनेंगे परीक्षा केंद्र: जिलाधिकारी



- *कलेक्ट्रेट सभागार में सभी एसडीएम व माध्यमिक शिक्षा के अधिकारियों संग की बैठक


- *जहां छात्रों संख्या ज्यादा और उपस्थिति कम होगी, ऐसे स्कूलों पर सेंटर नहीं बनाने पर हुई चर्चा


बलिया: बोर्ड परीक्षा केंद्र निर्धारण को लेकर जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने कलेक्ट्रेट सभागार में सभी एसडीएम व माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों संग बैठक की। उन्होंने स्पष्ट कहा कि शासन की ओर से निर्धारित मानक पर खरा उतरने वाले विद्यालयों को ही परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। 


जिलाधिकारी ने कहा कि फिलहाल जिन 240 विद्यालयों को सेंटर बनाया जाना है, एसडीएम के नेतृत्व में बनी तहसील स्तरीय टीम एक-एक स्कूल को चेक करेगी। शासन के मानक के अनुसार जो नहीं मिलेगा, उस विद्यालय पर भी केंद्र नहीं बनेगा। इसके अलावा जहां बाहरी प्रान्त के छात्रों की संख्या ज्यादा होगी उन विद्यालयों पर भी तगड़ी निगहबानी होगी।


*पास होना है तो शुरू कर दें मेहनत, नकलविहीन होगी परीक्षा*


डीआईओएस ब्रजेश मिश्र ने भी स्पष्ट कर दिया है कि इस बार नकल की हर सम्भावनाओं को समाप्त कर दिया जाएगा। नकल करने या कराने का प्रयास भी किसी ने किया तो उस पर विभागीय के साथ सख्त कानूनी कार्रवाई भी होगी। इसलिए छात्र-छात्राएं भी अभी से मेहनत करना शुरू कर दें। बोर्ड परीक्षा पास करना है तो उसका एकमात्र सहारा पढ़ाई ही है। बाहरी छात्र भी अगर सिर्फ नकल के भरोसे ही यहां नामांकन कराए होंगे तो वे जान लें कि इस बार सख्त माहौल में नकलविहीन परीक्षा होगी। नकल की सोच मन में लेकर आएं ही नहीं तो बेहतर होगा। जीआईसी के प्रभारी प्रधानाचार्य, डीआईओएस आफिस के अतुल कुमार, संजय यादव, राजेन्द्र गुप्ता आदि मौजूद थे।


कौशल विकास मिशन कमेटी की बैठक


बलिया: कलेक्ट्रेट सभागार में शुक्रवार को कौशल विकास मिशन कमेटी की बैठक में जिलाधिकारी एसपी शाही ने कहा कि हम सबका यह प्रयास हो कि जिले के अधिक से अधिक युवा किसी न किसी तकनीकी क्षेत्र में कुशल हों। उन्होंने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के क्रियान्वयन से सम्बंधित पूछताछ आईटीआई प्रिंसिपल से की। मिशन के तहत चल रहे कुछ केंद्र संचालकों से जरूरी जानकारी भी ली। जिलाधिकारी ने कहा कि कौशल विकास मिशन के तहत जिले में जो केंद्र चलते हैं, उनका समय-समय पर निरीक्षण भी होता रहे।


बैठक में सीडीओ विपिन जैन ने कहा कि बहुत जल्द जलजीवन मिशन में 12 हजार लोगों को ट्रेनिंग दी जानी है। इसमें इलेक्ट्रिशियन व फीटर ट्रेड वालों को ट्रेनिंग दी जाएगी। कौशल विकास मिशन व पेयजल स्वच्छता मिशन के सौजन्य से यह ट्रेंनिग दी जाएगी। कमेटी के सदस्य के रूप में सीए ईश्वरन, नेहरू युवा केन्द्र के शलभ उपाध्याय व केंद्र संचालक मौजूद थे।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments