Breaking News

> > >

नौ सूत्रीय मांगों को लेकर विभिन्न कालेजों के छात्रों ने जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय परिसर में भिक्षाटन कर हल्ला बोला


बलिया। नौ सूत्रीय मांगों को लेकर शुक्रवार को जिले के विभिन्न कालेजों के छात्रों ने जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय परिसर में भिक्षाटन कर हल्ला बोला। हालांकि पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों को रोकने का प्रयास किया तो धक्का-मुक्की भी हुई। छात्रों ने विश्वविद्यालय का गेट का ताला तोड़कर अंदर प्रवेश कर गये और विश्वविद्यालय के अटल प्रशासनिक भवन के समक्ष कुलपति द्वारा विश्वविद्यालय को चलने हेतु मांगी गई भिक्षा राशि लेकर धरने पर बैठ गए। उसके पश्चात कुलसचिव के साथ कमेटी छात्रों की बात सुनने आई और मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया। इसके पश्चात छात्रों ने भिक्षा राशि कुलपति को सौंपा गया। इस दरमियान छात्रों ने कुलपति पर छात्रों का भविष्य खराब करने का आरोप लगाया। टीडी कालेज के छात्रसंघ महामंत्री अमित सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन छात्र-छात्राओं के भविष्य साथ खिलवाड़ कर रहा है, जिसको कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। कहा कि हम पढ़ेंगे भी और अधिकार के लिए लड़ेंगे भी। प्रदर्शन करने वालों में अनुभव,अंकित, अभिषेक सीटू, मंजूर, अभिनव चंचल, प्रवीण विक्की, हिमांशु, अनुराग पटेल, इशू सिंह, आदित्य परिहार, सौरभ सहयोगी, अजय यादव, नीतीश यादव, अंकित सिंह, रिंशु पांडेय, शमशेर, अमरेश, यूपी सिंह, आदित्य परिहार, सूरज आदि शामिल रहे।


परीक्षा समिति की बैठक में हुए कई अहम निर्णय


बलिया। विद्यार्थियों की विभिन्न मांगों के मद्देनजर 13 फरवरी को परीक्षा समिति की आपात बैठक विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में आयोजित की गई थी। इस बैठक में छात्र- हित को ध्यान में रखते हुए प्रोन्नत परीक्षाफल से असंतुष्ट विद्यर्थियों को एक से अधिक प्रश्नपत्रों में बैक देने का मौका देने, प्रोन्नत परीक्षार्थियों को बैक पेपर/ श्रेणी सुधार की परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए प्रति प्रश्नपत्र रू 600/ - तथा दो अथवा दो से अधिक प्रश्नपत्रों के लिए अधिकतम संबंधित पाठ्यक्रम की वार्षिक परीक्षा हेतु निर्धारित शुल्क देने, सत्र 2019- 20 में स्नातक अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को, जो राष्ट्रगौरव एवं पर्यावरण की परीक्षा में अनुत्तीर्ण हैं और जिनका परीक्षाफल आरडब्लू घोषित है, सत्र 2020-21 की परीक्षा में सम्मिलित होने का मौका देने का निर्णय लिया गया। इसके अलावा प्रोन्नत परीक्षाफल से प्रभावित अभ्यर्थियों को 20 फरवरी 2021 तक परीक्षा फॉर्म भरने का अवसर प्रदान करने का भी निर्णय लिया गया। यह जानकारी विश्वविद्यालय के कुलसचिव संजय कुमार ने दी।


मेजर अरविंद नेत्र बने विश्वविद्याल के प्राक्टर


बलिया। जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. कल्पलता पाण्डेय ने विश्वविद्यालय के कुलानुशासक (प्रॉक्टर) के पद पर सतीश चंद्र महाविद्यालय के प्राचार्य एवं एनसीसी के वरिष्ठ अधिकारी मेजर अरविंद नेत्र पाण्डेय की नियुक्ति की है। इस आशय का पत्र कुलसचिव संजय कुमार की ओर से जारी किया गया है।


बता दें कि मेजर पाण्डेय पहले से ही विश्वविद्यालय के विभिन्न उत्तरदायित्वों का निर्वहन कुशलता के साथ करते रहे हैं। एनसीसी के अनुशासित अधिकारी के रूप में ख्यात डॉ पाण्डेय ने उड़ाका दल के समन्वयक के रूप नकल विहीन परीक्षा सम्पन्न कराने में अहम भूमिका निभाई थी। इसके अलावा उन्होंने बी. एड. प्रवेश परीक्षा को बतौर समन्वयक शुचिता के साथ संपन्न कराया था।


छात्रों की समस्याओं पर विचार करेगी कमेटी


बलिया। कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थिति के कारण जो परीक्षाएँ सम्पन्न नहीं हो सकी थीं, उनमें छात्रों को शासन के निर्देशों के अनुरूप प्रोन्नत करके अगली कक्षा में प्रवेश दे दिया गया। इस प्रोन्नत परीक्षाफल से कतिपय छात्र असंतुष्ट हैं तथा छात्रों के कुछ समूहों द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर विगत कुछ दिनों में पत्रक सौंपे गए हैं। विश्वविद्यालय एक समिति बनाकर छात्रों की इन मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर रहा है। विश्वविद्यालय जल्द ही इन मांगों पर निर्णय लेकर संबंधित को अवगत करा देगा। यह जानकारी विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ जैनेन्द्र कुमार पाण्डेय ने दी है।



No comments