Breaking News

> > >

मंडलायुक्त ने किया उजियार का स्थलीय निरीक्षण


नरही, बलिया : मंगलवार को विकासखंड सोहाव के उजियार ग्राम पंचायत का मंडलायुक्त विजय विकास पंत ने स्थलीय निरीक्षण किया।  जिसमें गांव के पंचायत भवन, स्कूल व रास्ता तथा  नालियों को काफी बारीकी से देखा।

 गांव में बने इंटरलॉकिंग रास्तों की बदहाल व्यवस्था को देखते हुए उसको दुरुस्त कराने व अधिनस्थ अधिकारियों को सड़कों पर लगे पेवर्स ब्लॉक ईटों की गुणवत्ता भी चेक कराई। दो सीमेंटेड ईटों  को आपस में टकराने पर टुकड़े टुकड़े बिखर गए, यह देख कर मंडलायुक्त ने तत्काल ग्राम पंचायत सचिव नवीन यादव को आदेश दिया कि रास्ते की मरम्मत जल्द से जल्द कराई जाए। 

इसी क्रम में गांव के प्राथमिक विद्यालय की व्यवस्था को भी जांचा और परखा। अंदर लगे कंप्यूटर और एलसीडी टीवी को देखा और प्रधानाध्यापक जुनैद अख्तर से इस संबंध में बातचीत की, साथ ही आदेशित किया कि 1 मार्च से जब विद्यालय खुलने पर जो डिजिटल पढ़ाई बच्चों को कराई जाएगी वह 1 सप्ताह तक उसकी पूरी वीडियो संबंधित अधिकारी के माध्यम से मंडलायुक्त तक भेजी जाए। स्कूल की काफी कम जमीन को देखते हुए तत्काल एसडीएम सदर राजेश यादव से उसका ब्यौरा मांगा और कहा कि यदि स्कूल की भूमि अधिक है और अतिक्रमण कर दी गई हो तो तत्काल उसका आंकड़ा निकाल कर कार्रवाई की जाए। गांव से निकलते समय एनएच 31 से कुमकुम पट्टी को जोड़ने वाला मुख्य मार्ग जो अभी निर्माणाधीन है उस पर लगे पेवर्स ब्लॉक ईटों को देखा और उनकी घटिया गुणवत्ता को जांच परख करने के बाद संबंधित ठेकेदार और कार्यदाई संस्था पर बिफर पड़े और कहा कि इस पर तत्काल कार्रवाई की जाए क्योंकि यह ईट केवल भस्सी से बनाया गया है और बगल में बन रहे नाली को बढ़िया से निर्मित कराने की बात कही।

 उक्त निरीक्षण कार्यक्रम में मंडलायुक्त के साथ एसडीएम सदर राजेश यादव, एडीएम, इंस्पेक्टर नरही समेत दर्जनों अधिकारी व कर्मचारी लगे रहे।


काश आप हर माह आते हजूर

मंडलायुक्त के निरीक्षण की खबर लगते हैं 2 दिनों से ब्लॉक के कर्मचारियों, राजस्व कर्मियों व अन्य कई विभागों के अधिकारी व कर्मचारी हरकत में आ गए थे। आलम यह था कि सैकड़ों की संख्या में सफाई कर्मी लगकर पूरे गांव में जिस जिस तरफ मंडलायुक्त के आने का अंदेशा था साफ सफाई किया गया, जिससे किसी पर कोई गांज न गिर सके। ग्रामीणों की मानें तो यदि इतनी तत्परता जिम्मेदारों और कर्मचारियों द्वारा महीने में एक बार भी दिखा दी जाती तो हर गांव सुंदर और व्यवस्थित होता। राजस्व विभाग की टीम भी अपने कार्यक्रम में लगी हुई थी तो वही आंगनबाड़ी, सफाई कर्मी सभी लोग मुस्तैद दिखे।



रिपोर्ट मनीष राय

No comments