Breaking News

कोरोना की दूसरी लहर से सतर्क रहने की जरूरत, ढिलाई पड़ सकती है भारी : सीएमओ डॉ राजेन्द्र प्रसाद

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह

बलिया :  देश के कुछ राज्यों में फिर से तेजी से पाँव  पसार रहे कोविड-19 से बचने के लिए अभी किसी भी तरह की ढिलाई बरतना खुद के साथ घर-परिवार और समुदाय को मुसीबत में डालने वाला साबित हो सकता है। कोरोना वायरस की दूसरी लहर से बचने के लिए अभी पूरी तरह से सतर्क रहने और एक दूसरे से दो गज की शारीरिक दूरी बनाये रखने, बाहर निकलने पर मास्क से अच्छी तरह से मुंह व नाक को ढकने और हाथों की स्वच्छता में ही सभी की भलाई है। यह कहना है मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० राजेन्द्र प्रसाद का ।

​डॉ० प्रसाद का कहना है कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, पंजाब और कुछ अन्य राज्यों में कोरोना के मामले एक बार फिर से दिन प्रतिदिन बढ़ रहे हैं, ऐसे में उन राज्यों से आने वालों से एक फिर वायरस के फैलाव की पूरी गुंजाइश है। ऐसे में सरकार उन राज्यों से आने वालों की एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन आदि पर फिर से जांच में तेजी लायी है फिर भी स्थिति को बिगड़ने से बचाने के लिए जरूरी है कि हम अपनी तरफ से कोई ढिलाई न बरतें । भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें और एक दूसरे से उचित शारीरिक दूरी बनाकर रखें, क्योंकि आने वाले दो हफ्ते बहुत ही चुनौतीपूर्ण हो सकते हैं क्योंकि इस समय फ्लाइट, ट्रेन व बस से घर पर होली मनाने आने वालों की तादाद बढ़ सकती है। बाजार में भी खरीदारों की भीडभाड़ से बचने की सख्त जरूरत है।

​होली मनाएं पर गले न लगाएं :

डॉ० प्रसाद का कहना है कि कोरोना काल में जिस तरह संयम और सादगी के साथ ईद का त्योहार लोगों ने मनाया है, उसी सादगी के साथ हमें आने वाले होली के पर्व को भी मनाने की सख्त जरूरत है। इस वक्त एक दूसरे से गले मिलने से संक्रमण के फैलाव की पूरी गुंजाइश है, इसलिए इस बार होली में एक दूसरे से गले मिलकर हैप्पी होली बोलने से बचें और नमस्ते व प्रणाम कहकर आत्मीयता जताएं ।

No comments