Breaking News

मोबाइल वैन ने की खाद्य पदार्थों की जांच, मिली तमाम खामियां

रिपोर्ट : धीरज सिंह


- *खाद्य पदार्थों की शुद्धता के प्रति आम जनमानस किया जागरूक


बलिया: सचल खाद्य जांच प्रयोगशाला (फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स) को एसडीएम दुष्यंत कुमार मौर्य ने हरी झंडी दिखाकर बांसडीह तहसील से रवाना किया। उन्होंने कहा कि इस तरह का विभाग का प्रयास जनहित में है और आम जनमानस को मिलावट के विरुद्ध जागरूक करने में एक महत्वपूर्ण कदम है। सचल जांच प्रयोगशाला ने मौके पर बाजार के आम उपभोक्ताओं के करीब 35 नमूने जांच किए। बाज़ार से विभिन्न प्रकार के नमूनें जैसे अरहर व मसूर, दाल, हल्दी पाउडर, सरसो तेल, खोवा व छेनें की मिठाइयां, बेसन के लड्डू व पेठा प्रमुख रूप से जांचे गए। छेने व खोवे की मिठाइयों में मैदा की मिलावट पाई गई, वहीं मिठाईयों में चांदी का वर्क नकली पाया गया। सरसो तेल व पेठा में भी शुद्धता की कमी मिली। इसके बाद मोबाइल वैन मनियर पहुँची और वहां उपभोक्ताओं के लगभग 16 नमूने जांचे। मिठाइयां मानक के अनुरूप नहीं मिली। उनमें आरारोट या मैदे की मिलावट पाई गई। 


मिलावट जांचने की सरल प्रक्रिया जानने के लिए लोग बेहद उत्सुक दिखे। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक श्रीवास्तव ने खाद्य सुरक्षा के आसान व प्रभावी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताया। कहा कि सचल खाद्य प्रयोगशाला जिले में हर महीने आएगी। जनपद के विभिन्न स्थानों में भ्रमण कर आम जनमानस को मिलावट के विरुद्ध जागरूक करेगी। इस अवसर पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी अमित सिंह, नरेन्द्र कुमार आदि थे।

No comments