Breaking News

Akhand Bharat

सिर पर झूल रही मौत, जिम्मेदार अंजान


रतसर (बलिया) आधुनिक समय में बिजली लोगों के दैनिक जीवन की हिस्सा बन चुकी है। इसकी महत्ता को समझते हुए सरकार 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने का दावा कर रही है लेकिन धरातल पर ऐसा दिखता नजर नहीं आ रहा है। जर्जर तार एवं लो वोल्टेज के बीच की जा रही बिजली आपूर्ति मौत को आमन्त्रण दे रही है। ब्रेक डाउन, शट डाउन, इन्सुलेटर की खराबी, डिश पंचर, हाई-लो वोल्टेज जैसी विद्युत विभाग की लाईलाज बीमारी के बीच अनियमित आपूर्ति एवं एकमुश्त मोटी बिल की वसूली के फरमान से उपभोक्ता इन दिनों काफी परेशान है। गड़वार क्षेत्र के रामपुर भोज गांव में इस समय 11 हजार वोल्टेज का जर्जर झुलता हाईटेंसन तार इस समय जानलेवा बना हुआ है। ग्रामीण इलाके में 40 वर्ष पुराने झुलते हाईटेंसन तार से आए दिन हादसा होना दिनचर्या सी बन गई है इसके बावजूद विभाग उक्त जर्जर पोल व तार बदलना मुनासिब नही समझता। बार-बार शिकायत के बाद भी ना तो कर्मचारी सुनते है और ना ही अधिकारी। इस बावत बिजली विभाग के जेई मनोज कुमार वर्मा ने बताया कि जल्द ही अपने कर्मचारियों को भेजकर दिखवा लेते है। जहां जर्जर एवं लटके हुए तार है वहां एक सप्ताह के अन्दर बदलवाने की व्यवस्था किया जाएगा।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments