Breaking News

बलिया में फाइलेरिया अभियान से पूर्व नाइट ब्लड सर्वे संपन्न

 


तीन दिनों में ली गयी 3267 रक्त पट्टिकाएं

बलिया : जिले में फाइलेरिया अभियान शुरू होने से पहले नाइट ब्लड सर्वे तीन दिनों आठ अप्रैल से दस अप्रैल तक चला। इसके लिए जिले के कुल आठ गाँव चिन्हित किए गए थे। इन सभी आठ गाँवों में नाइट ब्लड सर्वे के लिए आठ टीम गठित की गयी थी। प्रत्येक टीम में लैब टेक्नीशियन सहित चार-चार स्वास्थ्य कर्मी लगाए गए थे। इन गांवों में रक्त पट्टिका रात्रि आठ से 12 बजे तक तैयार की गयी । तीन दिनों में 3267 रक्त पट्टिका ली गयी । इसके पूर्व सात अप्रैल को जिला मलेरिया कार्यालय में आठ ब्लॉक के लैब टेकनीशियन का एक दिवसीय प्रशिक्षण पाथ संस्था के जिला तकनीकी अधिकारी डॉ दीपक सिंह द्वारा दिया गया । साथ ही पीसीआई संस्था के क्षेत्रीय प्रबंधक विकास द्विवेदी द्वारा मोबिलाइजेशन का कार्य किया गया ।

कार्यवाहक जिला मलेरिया अधिकारी डॉ नीलोत्पल कुमार ने बताया कि फाइलेरिया ( एमडीए) अभियान शुरू होने से पहले नाइट ब्लड सर्वे शुरू किया गया था । नाइट ब्लड सर्वे के दौरान चार गांवों में रेंडम तथा चार गांवों में सेंटीनल स्थल पर रक्त पट्टिका (स्लाइड) तैयार की गयी।

इन गांवों में हुआ नाइट ब्लड सर्वे:- 

डॉ नीलोत्पल कुमार ने बताया कि जिन गांवों में नाइट ब्लड सर्वे किया गया है। वह रैंडम ब्लॉक इस प्रकार हैं - बैरिया ब्लाक के ग्राम भीखा छपरा, रेवती ब्लॉक के वार्ड नंबर 15,  सियर ब्लाक के ग्राम खरदहा, बलिया सदर जापलिंन गंज । सेन्टिनल ब्लॉक कुछ इस प्रकार हैं - बलिया सदर जगदीशपुर, ब्लॉक चिलकहर ग्राम सिकरियाकला, ब्लॉक हनुमानगंज उमरगंज, ब्लाक मनियर ग्राम जिगनी ।

  उन्होने बताया कि जिले मे 2019 मे फाइलेरिया के 179 मरीज मिले थे, 2020 मे 47 मरीज़ मिले थे । जिनका इलाज़ चल रहा है।


रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments