Breaking News

संक्रामक बीमारियों से बचना है तो बदलते मौसम में रहें सतर्क

 


रिपोर्ट : धीरज सिंह

बलिया : गर्मी बढ़ने के साथ ही कई प्रकार की संक्रामक बीमारियों के फैलने की संभावना बढ़ जाती है जैसे- मलेरिया, टाइफाइड, वायरल बुखार, चिकनपॉक्स(चेचक ) आदि। इसलिए स्वयं के साथ  घर के आस-पास साफ-सफाई रखना बेहद जरूरी है। 

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ० हरिनन्दन प्रसाद ने इस मौसम में तेज़ी से फैलने वाली संक्रामक बीमारियों  के सम्बन्ध में बताया कि चिकनपॉक्स (चेचक ) गर्मियों में होने वाली बीमारियों में से एक है। इसकी शुरुआत हल्के बुखार से होती है। यह संक्रमण शरीर में सामान्यत: दो हफ्ते तक रहता है| उन्होंने बताया कि चिकनपॉक्स ‘बैरी सेला जास्टर’ वायरस से होता है| यह बीमारी बच्चों एवं बड़ों दोनों में होती हैं| बच्चों में इसका प्रतिशत अधिक होता है| उन्होंने बताया कि यह एक संक्रामक  बीमारी है, जिसके लक्षण दिखते ही नज़दीक के स्वास्थ्य केंद्र में जाकर सम्पूर्ण जांच कराएं और बिना डॉक्टर या विशेषज्ञ के किसी भी प्रकार की दवा  का सेवन न करें। उन्होंने किसी भी प्रकार के झाड़-फूँक से बचने की सलाह दी और कहा कि  चिकनपॉक्स को माता समझ इलाज में लापरवाही न करें|

चिकनपॉक्स के लक्षण:-

रोगी को तेज़ बुखार आना,भूख न लगना और उल्टी होना, सिरदर्द, बेचैनी दूसरे या तीसरे दिन शरीर पर लाल-लाल निशान दिखाई देते हैं।यह निशान सबसे पहले छाती, पीठ, चेहरा ,बाद में पूरे शरीर में फ़ैल जाते हैं ।ज्यादा गंभीर होने पर नाक, आँख, जीभ आदि जगहों में लाल-लाल निशान निकलकर छालों की तरह हो जाते हैं। धीरे-धीरे और अधिक बुखार होने लगता है। 

बचाव और सावधानियां :- 

आँखों की सफाई और रक्षा का पूरा ध्यान देना चाहिए। मुंह पर  मास्क लगाना, लाल निशानों को न खुजलायें और पानी अधिक से अधिक पीते रहे।

No comments