Breaking News

अच्छे संस्कारों से संवरता है बचपन : संत बालक दास

 



रतसर (बलिया) क्षेत्र के जनऊपुर गांव स्थित हुलहुल बाबा मन्दिर परिसर में आयोजित नौ दिवसीय रुद्र महायज्ञ एवं रामकथा के सातवें दिन गुरुवार को भक्तों ने यज्ञ कुण्ड में 22 हजार रुद्र की आहुतियां डाली। यज्ञाचार्य पं० यज्ञेश उपाध्याय, पं० गनेश तिवारी, पं०ओम शंकर उपाध्याय, पं० अनूप मिश्रा एवं यज्ञकर्ता अनाम दास जी महाराज के द्वारा किए जा रहे वैदिक मन्त्रों के उच्चारण से पूरा वातावरण भक्तिमय बना हुआ है। इस दौरान प्रवचन, रामलीला एवं रासलीला कार्यक्रम में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। प्रवचन सुनने के लिए क्षेत्र के जनऊपुर,एकडेरवा, बाराबांध, तपनी, मसहां, जगदेवपुर, रतसर, गढमलपुर, बसन्तपुर, सुखपुरा, गड़वार समेत दर्जनों गांवों से सैकड़ों महिला पुरूष पहुंच रहे है। यज्ञ के आकर्षण को बढ़ाने के लिए बच्चों के लिए खिलौने, मिठाइयों की दुकानें, बड़े-बड़े झूले एवं चर्खी लगाए गए है। वहीं महिलाओं के सौन्दर्य प्रसाधन के लिए आकर्षक ढंग से मीना बाजार सजा हुआ है जहां महिलाएं जमकर खरीददारी करते देखी जा रही है। सान्ध्य बेला में कथावाचक संत बालक दास जी ने अपने प्रवचन में कहा कि आज के इस समय में हर माता पिता चाहते है कि उनके पुत्र मर्यादा पुरुषोतम भगवान श्री राम व भगवान कृष्ण की तरह हो लेकिन पुत्र श्रीराम और श्रीकृष्ण की तरह तभी होगें जब माता पिता भी राजा दशरथ व कौशल्या माता एवं नन्द बाबा व यशोदा की तरह हो। कहा कि हर मां बाप को चाहिए कि इस आधुनिक युग में भी अपनी रुचि सत्संग में रखे, सत्संग करे और बच्चों को सत्संग में भेजे। बच्चे वही करते है जो माता पिता से सीखते है। कहा कि श्रीमद्भागवत की कथा केवल हरि की माला जप करना नही बल्कि संस्कार, देशभक्ति, शिक्षा सब कुछ सिखाती है। अगर हम लोगों में अच्छे संस्कार नही हो, अच्छी शिक्षा नही हो, देशभक्ति नही हो वे कभी भगवान का भक्त नही हो सकता। रास मण्डली के कलाकारों द्वारा रासलीला के मंचन में श्री कृष्ण को अलग-अलग रूप में रखकर राधा के प्रति अपनी प्रेम को व्यक्त करते दिखाया गया। इन रासलीलाओं को देख दर्शकों को ऐसा लगता है मानों वे असलियत में श्री कृष्ण के युग में पहुंच गए हो।  यज्ञ के सफल संचालन में पिन्टू सिंह चौहान, बीएसएस के राजेश कुमार मिश्रा, शिव जी गुप्ता, चन्दन ऊर्फ मंटू, सुखेन्द्र सिंह चौहान, हृदयानन्द पाण्डेय, मिथिलेश पाण्डेय, राधेश्याम पाण्डेय, राकेश पाण्डेय आदि मौजुद रहे।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments