Breaking News

Akhand Bharat

जनसेवा केंद्र संचालक ने पेश की ईमानदारी की मिसाल,ग्राहक को लौटाए दस हजार रुपए




गड़वार(बलिया) : वर्तमान समय में जहाँ  समाज में भ्रष्टाचार व बेईमानी व्याप्त है।वहीं स्थानीय कस्बा के मुख्य बाजार में स्थित जनसेवा केंद्र संचालक ने ईमानदारी का परिचय देते हुए एक दिन के बाद ग्राहक को उसके दस हजार रुपए लौटाकर समाज में ईमानदारी की मिशाल पेश किया है।

गौरतलब है कि गत गुरुवार को कस्बा निवासी सौरभ कुमार ने अपने भतीजे को बीस हजार रुपए किसी के खाते में जमा करवाने के लिए दिए उनका भतीजा कस्बा के मुख्य बाजार स्थित एक जनसेवा केंद्र पर जाकर  उक्त कार्य के लिए बीस हजार रुपए जनसेवा केंद्र के संचालक विकास गुप्ता को दे दिया।विकास ने दी हुई धनराशि को अपने कैश काउंटर में रख लिया।संयोगवश खाता नंबर सही नहीं होने की दशा में रुपया भेजा नहीं जा सका।इस पर जनसेवा केंद्र संचालक ने बिना गिने कैश काउंटर से रुपया निकालकर दे दिया।ग्राहक ने भी बिना गिने हुए रुपया को अपने पास रखकर घर आ कर अलमारी में रख दिया।इसके अगले दिन सौरभ कुमार ने जब रुपए को गिना तो मात्र दस हजार रुपए ही था।इस पर उन्होंने अपने भतीजे से बाकी दस हजार रूपए के बारे में पूछे।भतीजे को याद आया कि उसने बिना गिने ही रुपए को अपने पास रख लिया था।संकोचवश उसने जनसेवा केंद्र संचालक को बताया कि मात्र दस हजार रुपए ही हैं आप एक बार अपना लेनदेन का रजिस्टर देख लें।पूरे वाक्या के बाद जनसेवा केंद्र के संचालक विकास गुप्ता ने ग्राहक को पूरा दिलासा देते हुए अपने दुकान में रखे लेनदेन के रजिस्टर और रुपए का मिलान किया तो उसके पास दस हजार रुपए अधिक मिले।उसने ग्राहक को दस हजार रुपए लौटा दिया।

इस जनसेवा केंद्र संचालक विकास की ईमानदारी की चर्चा पूरे गांव में हो रही है।


रिपोर्ट-पीयूष श्रीवास्तव

No comments