Breaking News

Akhand Bharat

जीत का जश्न मनाने को लेकर एक ही गांव में अलग अलग स्थानों पर समर्थको के बीच हुई मारपीट

 



बेल्थरारोड, बलिया।पंचायत चुनाव में में जीत का जश्न मनाने के दौरान कसौन्डर गांव में अलग अलग स्थानों पर समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई। एक स्थान पर पटाखा जलाने वाले परिवार को बुरी तरह पीटा गया तो दूसरे स्थान पर पटाखा छोड़ने को लेकर जमकर ईंट पत्थर भी चले। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से कुछ लोगों को उठा कर थाने ले गई। शान्ति व्यवस्था के लिए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

               पंचायत चुनाव की गणना के दूसरे क्षेत्र के कसौन्डर गांव का परिणाम आने के बाद समर्थकों में जोश भरपूर था। सोमवार की शाम को गांव के शिवानंद खरवार के घर के लड़के अपने दरवाजे पर पटाखा फोड़ रहे थे। जिसपर कुछ लोगों ने आपत्ति की और कहा कि अपने घर पर पटाखे जलाओ जिसपर वह अपनी छत पर जाकर पटाखा फोड़ने लगा। उससे नाराज कुछ लोग उसके घर मे घुसकर परिवार के सभी सदस्यों को मारने पीटने लगे। यहाँ तक कि महिलाओं को भी नहीं बख्शा। पीड़ित परिवार ने डायल 112 को बुलाया और अपनी आपबीती सुनाई। उसके कुछ देर बाद गांव के ही दूसरे छोर पर रास्ते पर पटाखा फोड़ने लगे। वहाँ भी लोगों के मना करने पर कुछ दूर हटकर पटाखा फोड़ने लगे। पटाखा छटककर एक व्यक्ति के बरामदे में जा गिरा। जिससे वहां भगदड़ मच गयी। मामला बढ़ते बढ़ते पत्थरबाजी में बदल गयी। जिसमें एक दो लोगों को हल्की चोटें भी आ गयी। मामले की जानकारी होते ही स्थानीय पुलिस सहित क्षेत्राधिकारी रसड़ा भी मौके पर पहुँच गए। मौके पर जो भी मिला उसे पुलिस पकड़कर थाने ले गई। पुलिस ने एक पक्ष से राजेश सिंह की तहरीर पर 21 लोगों के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कर ली है।थाना प्रभारी शिवमिलन ने बताया कि पटाखा जलाने को लेकर विवाद हुआ था जिसमे एक लोगों को सर पर चोटें आयी है। कुल 21 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है साथ गांव में शांति व्यवस्था के लिए पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।


विजय जुलूस निकालने पर पुलिस ने प्रधान सहित 30 के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा


बेल्थरारोड, बलिया।नगरा थाना क्षेत्र के महरी गांव में पंचायत चुनाव जीतने के बाद अपने समर्थकों संग विजय जुलूस निकालने पर स्थानीय पुलिस ने प्रधान सहित 15 नामजद व 15 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर दिया। थाना प्रभारी शिवमिलन ने बताया कि रोक के वावजूद भी जीते हुए प्रत्याशी द्वारा विजय जुलूस निकाला गया था। जिसके ऊपर जरूरी कार्यवाही की गयी।

                                 

संतोष द्विवेदी

No comments