Breaking News

आखिरकार 14 घंटे बाद रतसर में विद्युत आपूर्ति हुई बहाल

 


रतसर (बलिया) स्थानीय विद्युत आपूर्ति उपकेन्द्र में लगभग 14 घंटे विद्युत आपूर्ति बाधित रही। उपकेन्द्र के इनकमिंग वाले एक पैनल में गड़बड़ी होने के बाद लाइन ट्रिप कर गई। बाद में जब सप्लाई शुरू की गई तो जोरदार धमाका के साथ आग लग गई। उसके बाद पुरा क्षेत्र अंधेरा में डूब गया। यह गड़बड़ी शनिवार की देर शाम साढ़े सात बजे की है। जेई मनोज वर्मा ने बताया कि आपूर्ति रविवार को 11 बजे बहाल कर दी गई। उन्होने कहा कि शनिवार देर शाम तेज धमाके के साथ सब स्टेशन  के इनकमिंग में आग लगने के कारण वैक्युम वाल जल गया। बिजली कर्मियों ने इसकी सुचना उच्च अधिकारियों को फोन से दी। सुबह में जिला मुख्यालय से उपकरण मंगाकर विद्युत कर्मियों के सहयोग से विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई। ग्रामीणों ने बताया कि बिजली आपूर्ति की बद इंतजामी से तंग आ चुके है। खेती किसानी के लिए बिजली की आवश्यकता है। वहीं गर्मी की वजह से घरेलू कनेक्शनधारी भी रात में सो नही पाते है। 18 घंटे की जगह बमुश्किल 8 घंटे ही बिजली नसीब हो पा रही है। बताते चलेकि रतसर विद्युत उपकेन्द्र पर लगी मशीनें पुरी तरह जर्जर एवं पुरानी हो गई है। आए दिन कोई न कोई फाल्ट होता रहता है। ग्रामीणों का कहना है कि छोटी-मोटी गड़बड़िया है जिनको ठीक न करा के अधिकारी एवं कर्मचारी जुगाड़ से एक-एक फीडर की सप्लाई करते है जिसके कारण मात्र आठ घंटे ही बिजली मिल पा रही है। शासन का निर्देश है कि ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली की सप्लाई दी जाए। आए दिन लाईनो में फाल्ट रहता है जिसे ठीक करने में दो से तीन दिन लग जाते है। विद्युत आपूर्ति चालू कराने में एसएसओ राजेश यादव, जिशान अली, रामनारायन, अवधेश यादव, दद्दन राम, अरविन्द कुमार, रविन्द्र कुमार, आकाश मौर्या एवं जितेन्द्र कुमार मौजूद रहे।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments