Breaking News

बरौली से पहसा तक की सड़क जर्जर, प्रशासन व जनप्रतिनिधि उदासीन

 



बेल्थरारोड, बलिया । दो जनपदों बलिया और मऊ को जोड़ने वाली बरौली से पहसा तक जाने वाली सड़क अपनी दयनीय स्थिति पर आंसू बहा रही है। सड़क के टूटने तथा बीच बीच में बने गड्ढे के वजह से वाहन के अलावा सायकिल से चलने वाले राहगीरों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस सड़क के मरम्मत या निर्माण के प्रति विभाग के अलावा जनप्रतिनिधि भी उदासीन नजर आ रहे है।

            बलिया मऊ को जोड़ने वाली सड़क के बरौली से पहसा तक गड्ढे में तब्दील हो चुकी है। यह सड़क बरौली, उसकर गजियापुर, बनकटवा, निगहुआ, मीरपुर, चकरा सहित एक दर्जन से अधिक गावों को जोड़ती है। सड़क के टूट फुट जाने से राहगीरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है वहीं हर समय दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। गड्ढे में तब्दील हो चुकी इस सड़क पर सायकिल सवार अक्सर गिर कर चोटिल होते रहते है। व्यवसायिक दृष्टि से भी यह मार्ग काफी महत्वपूर्ण है। इसी सड़क से दुकानदार या आमलोग भी अपनी जरूरत के सामानों की खरीदारी करने पाहसा या मऊ आते जाते है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क का निर्माण सात वर्ष पहले हुआ था, तबसे लेकर आजतक इसका मरम्मत नहीं हुआ है। सम्बन्धित विभाग एवं जनप्रतिनिधि भी इस सड़क के निर्माण के प्रति लापरवाह बने हुए है। बार बार कहने के बावजूद भी केवल कोरा आश्वाशन ही मिलता है।


 बेल्थरारोड,बलिया।सामाजिक कार्यकर्ता रविप्रकाश यादव ने बताया कि यह सड़क क्षेत्रवासियों के लिए काफी महत्वपूर्ण है। पिछले तीन सालों से सड़क की स्थिति अत्यंत बदतर हो चुकी है।इस सड़क के जगह जगह टूट जाने से राहगीर हमेशा गिरकर चोटिल हो रहे है। इसके मरम्मत के लिए जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन का ध्यान कई बात आकृष्ट किया गया है लेकिन आश्वासन के शिवा कुछ नहीं मिला। कहा कि यदि शीघ्र सड़क के जीर्णोद्धार के लिए प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया तो हमलोग सड़क पर उतरने के लिए बाध्य होंगे।


                                       संतोष द्विवेदी

No comments