Breaking News

Akhand Bharat

जमा कराया 20 हजार रुपये, नर्सिंग होम में प्रसव के बाद जुड़वा बच्चों की मौत

 



बैरिया(बलिया)। थाना क्षेत्र के रानीगंज बाजार के एक निजी चिकित्सालय में रविवार को 20 हजार रुपये लेकर प्रसव कराने व प्रसव के बाद जुड़वा बच्चों के मौत उसी दिन होने का मामला बैरिया थाने पहुचा है।पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

उल्लेखनीय है कि धनन्जय गोड़ निवासी मधुबनी की पत्नी पिंकी देवी गर्भवती थी।प्रसव के समय आशाबहु चंदा वर्मा ने पिंकी देवी को सरकारी अस्पताल पहुचाने के जगह पर रानीगंज बाजार के जीवन ज्योति अस्पताल में पहुचा दिया।जिससे प्रसव के लिए अस्पताल द्वारा 20 हजार रुपये जमा कराए गए।आरोप है कि प्रसव में लापरवाही के कारण दोनों नवजात की तबियत बिगड़ गयी इसी बीच निजी अस्पताल के चिकित्सक ने जुड़वा बच्चों के साथ उसकी माँ को घर भेज दिया जहा एक बच्चे की तबियत ज्यादा बिगड़ने पर परिजन सोनबरसा अस्पताल ले गए जहा उसकी मौत हो गयी।उसके बाद दूसरे बच्चे की भी तबियत बिगड़ी और उसे बलिया ले जाते समय उसकी भी मौत रास्ते मे हो गयी।पिंकी देवी के पति धनन्जय गोड़ ने ज्योज्योति अस्पताल के संचालक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का तहरीर देकर प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है।एसएचओ राजीव कुमार मिश्र ने बताया कि तहरीर मिली है पुलिस मामले की जांच कर रही है।दूसरी तरफ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा के अधीक्षक डाक्टर आशिष श्रीवास्तव से पूछने पर बताया कि गैर पंजीकृत चिकित्सालयों अथवा नर्सिंग होम के जांच का अधिकार मुख्य चिकित्साधिकारी व उप मुख्य चिकित्साधिकारी के पास होता है कौन पंजीकृत है कौन गैर पंजीकृत है इसकी भी सूची सीएमओ के कार्यालय में है,ऐसे प्रकरण में कार्रवाई करने का अधिकार सीएमओ के पास ही है।


रिपोर्ट : वी चौबे

No comments