Breaking News

Akhand Bharat

राष्ट्रीय लोक अदालत में वैवाहिक मामलों के निस्तारण पर जोर

 


बलिया। तहसील व जनपद स्तर पर 10 जुलाई को लग रहे राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने के लिये जनपद न्यायाधीश/अध्यक्ष  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण आलोक कुमार त्रिवेदी के आदेश पर न्यायिक अधिकारियों की गुरुवार को दो अलग-अलग बैठके हुई। पहली प्री-ट्रायल की बैठक  प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय की अध्यक्षता में उनके विश्राम कक्ष में हुई। इसमे वैवाहिक से सम्बन्धित अधिक से अधिक  मामलों के निस्तारण पर विचार विमर्श किया गया। बैठक में अपर जनपद न्यायाधीश/विशेष न्यायाधीश (ई0सी0एक्ट)/नोडल अधिकारी, हुसैन अहमद अंसारी, अपर

प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय श्रीमती श्रद्धा तिवारी एवं प्रभारी सचिव/ अपर जनपद न्यायाधीश/एफ.टी.सी,

विनोद कुमार उपस्थित रहें।

दूसरी बैठक अपर जनपद न्यायाधीश/ विशेष न्यायाधीश (ई0सी0एक्ट) नोडल अधिकारी, हुसैन अहमद अंसारी की अध्यक्षता मे दीवानी न्यायालय में स्थित ए0डी0आर0 भवन में प्रभारी सचिव जिला विधिक सेवा के विश्राम कक्ष में हुई। जिसमे राष्ट्रीय लोक अदालत में लम्बित मामलों का अधिक से अधिक संख्या में निस्तारण किये जाने को लेकर विचार विमर्श किया गया।  बैठक में प्रभारी सचिव/अपर जनपद न्यायाधीश एफ.टी. सी विनोद कुमार, मुख्य

न्यायिक मजिस्ट्रेट सुरन्द्र प्रसाद, अविनाश कुमार मिश्रा सिविल जज (जूडि0) पूर्वी, राहुल आनन्द

न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम,  अरूण कुमार गुप्ता सिविल जज (जू०डि0) पश्चिमी, राजीव रंजन मिश्रा न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वितीय, युमित गुप्ता सिविल जज (जू0डिo), धम्म कुमार सिद्धार्थ सिविल जज (जूडि0), प्रवीन कुमार प्रियदर्शी सिविल जज (जू0डि0), धर्मेन्द्र कुमार भारती सिविल जज (जू0डिo), सुश्री सशी किरन सिविल जज (जूडि0), उपस्थित रहे।



रिपोर्ट : धीरज सिंह

No comments