Breaking News

Akhand Bharat

अजब प्रेम की गजब कहानीः प्रेमी-प्रेमिका ने रेलवे स्टेशन पर मुलाकात की, गले मिले और ट्रेन के आगे कूद कर दी जान

 



लखनऊ। यूपी के बाराबंकी में एक प्रेमी जोड़े का दर्दनाक अंत हुआ। शादी से ठीक 12 दिन पहले दोनों ने घरवालों से छिपकर रेलवे स्टेशन पर मुलाकात की। एक-दूसरे से दो घंटे तक बातचीत की और गले लगाया। कुछ देर बाद दोनों ने एक-दूसरे का हाथ पकड़ा और ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। कोई कुछ समझ पाता इसके पहले ही दोनों की मौत हो चुकी थी। पुलिस ने दोनों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिए हैं।



ज्योति और सूरज का प्रेम प्रसंग लंबे समय से चल रहा था। दोनों एक ही मोहल्ले गांधीनगर के थे। ज्योति के परिवार वाले इस प्रेम-प्रसंग के खिलाफ थे। वह अक्सर ज्योति को समझाया करते थे। एक दिन ज्योति ने सूरज से शादी न होने पर जान देने की धमकी दे डाली। परिवार वाले परेशान हो गए ज्योति को समझाया, पर वह अपनी जिद पर अड़ी रही। घर वाले ज्योति की जिद के आगे हार गए और शादी के लिए तैयार हो गए। सूरज के परिवार को भी राजी कर लिया। बताया जा रहा है कि परिवार वाले बहुत संतुष्ट नहीं थे।



मामला नगर कोतवाली क्षेत्र के आलापुर के पास सफीपुर रेलवे क्रॉसिंग का है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, पहले तो दोनों रेलवे ट्रैक पर बैठे देखे गए। फिर अचानक गले मिले और उसके बाद लखनऊ से बनारस की ओर जा रही 03010 डाउन एक्सप्रेस के आगे एक साथ कूदकर जान दे दी। प्लेटफॉर्म पर मौजूद लोग कुछ समझ ही नहीं सके। लोगों ने तुंरत सूचना पुलिस को दी। दोनों शवों की शिनाख्त शुरू की गई। पुलिस को रेलवे ट्रैक के पास ही एक टूटा हुआ मोबाइल मिला, जिससे पता चला कि युवक और युवती बाराबंकी शहर के गांधीनगर मोहल्ले के रहने वाले सूरज और ज्योति हैं।



सूरज के पिता बेचू लाल के मुताबिक, उसका बेटा घर से गायब था। हर जगह ढूंढा पर कहीं पता नहीं चला। अब उसके जान देने की खबर आई। वहीं, युवती के चाचा रामसिंह ने बताया कि ज्योति के मां-बाप नहीं हैं। उसके भाई ने बताया कि ज्योति घर पर नहीं हैं। उससे फोन पर बात की गई तो उसने बताया कि वह बस स्टॉप पर है। अभी थोड़ी देर में घर वापस आ जाएगी।



ज्योति के चाचा राम सिंह ने ये भी बताया कि कुछ समय पहले शादी की बात चलने पर उसने कहा था कि उसकी शादी अगर सूरज से नहीं हुई तो वह जान दे देगी। इसके बाद दोनों की शादी तय कर दी गई थी। दोनों की गोदभराई की रस्म भी हो गई थी, शादी के कार्ड छप चुके थे। दोनों काफी खुश थे और 16 जुलाई को दोनों की शादी होनी थी। फिर भी न जाने क्यों दोनों ने ऐसा कदम उठाया।



इस मामले में बाराबंकी के एएसपी उत्तरी अवधेश सिंह ने बताया कि दोनों ट्रेन के आगे आ गए, जिससे उनकी मौत हो गई। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। अगर कोई भी दोषी मिलता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।



डेस्क


No comments