Breaking News

राजनीतिक प्रपंच का शिकार हो गई है गंगा : रमाशंकर तिवारी


दुबहर /बलिया : ब्रम्ह द्रव गंगा को टिहरी बांध में कैद कर प्रकृति को चुनौती देना न्याय संगत नही है । गंगा के नाम पर अकूत धन खर्च कर पतित पावनी को बचाने की सरकारी एवम गैर सरकारी कोशिश आलोचना के घेरे में है । वक्त का तकाजा है सालो साल गंगा पेटे में गोमुख से गंगा सागर तक न्यूनतम प्रवाह बनाये रखने की संवैधानिक व्यवस्था सुनिश्चित किया जाय । उक्त बातें शनिवार को गंगा मुक्ति एवम प्रदूषण विरोधी अभियान के राष्ट्रीय प्रभारी रमाशंकर तिवारी ने दुबहर विकास खण्ड के अखार ग्राम सभा स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर पोस्टर अभियान के शुभारंभ के अवसर पर कही । ज्ञात हो कि गंगा तटीय गांवो में गंगा मुक्ति अभियान के तहत गंगा को साफ रखने के लिए जगह जगह पोस्टर लगाए जा रहे है । श्री तिवारी ने कहा कि गंगा राजनैतिक प्रपंच की शिकार हो गयी हैं । इस मौके पर सन्दीप कुमार गुप्त ,संजय जायसवाल,शुभम पाठक,पन्नालाल साहू ,रमेश राय, हिमांशु यादव सोनू कुमार आदि गंगा भक्त उपस्थित रहे ।


रिपोर्ट:-नितेश पाठक

No comments