Breaking News

विकास के लिए बलिया जिले के प्रधान ले रहे ऑनलाइन ट्रेनिंग

 




बलिया। राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत जिले के नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को विकास कार्यो के संपादन की जानकारी देने के लिए 23 व 24 जुलाई को एक दिवसीय ऑनलाइन उन्मुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाएगा। इसके तहत वर्चुवल प्लेटफार्म के माध्यम से नेशनल केपेबिलिटी फ्रेमवर्क के अनुसार चुनाव के बाद प्रधानों को उनके कर्तव्य और दायित्वों की जानकारी दी जाएगी। प्रशिक्षण में पंचायती राज व्यवस्था से लेकर विभिन्न विभागों की संचालित योजनाओं क्रियान्वयन की जानकारी दी जाएगी। प्रशिक्षण के बाद ग्राम पंचायतों से उपभोग प्रमाण पत्र प्राप्त कर मंडल को उपलब्ध कराने का दायित्व जिला पंचायत राज अधिकारी को दिया गया है।


-----------


इन व्यवस्थाओं के बारे में मिलेगी ट्रेनिंगः


- पंचायती राज व्यवस्था


- नेतृत्व विकास


- ग्राम सभा एवं ग्राम पंचायत की बैठकें


- ग्राम पंचायत की समितियाँ-ग्राम प्रधान की भूमिका एवं कर्तव्य तथा विधायी


- विभागीय योजनाएं (स्वच्छ भारत मिशन, ग्रामीण)


- ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी)- ई-ग्राम स्वराज


- पीएफएमएस


- मॉडल पंचायत


- ओएसआर(स्वयं के आय श्रोत)


- राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तरीय पंचायत पुरस्कार


- मॉडल ग्राम पंचायत के अपेक्षित मानक एवं प्रस्तावित गतिविधियाँ


- वर्षा जल संरक्षण एवं संग्रहण


-------


पहले दिन आठ व दूसरे दिन नौ ब्लॉक के प्रधान लेंगे भाग


ऑनलाइन प्रशिक्षण के पहले दिन यानि 23 जुलाई को बैरिया, बांसडीह, चिलकहर, दुबहड़, गड़वार, हनुमानगंज, मनियर और नगरा विकास खंड के प्रधान भाग लेंगे। जबकि दूसरे दिन यानि 24 जुलाई को सोहांव, ‌सीयर, रेवती, रसड़ा, नवानगर, पंदह, मुरलीछपरा, बेलहरी और बेरुआरबारी के ग्राम प्रधान प्रशिक्षण में भाग लेंगे।


--------


प्रशिक्षण का समयः


एक दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण में दो सत्र आयोजित किए जायेंगे। दिन में 10.30 से अपरान्ह एक बजे तक सामान्य सत्र तथा अपराह्न 2.30 से शाम पांच बजे तक तकनीकी सत्र का आयोजन किया जाएगा। सत्र प्रारम्भ होने से आधा घंटा पूर्व सभी प्रतिभागी ऑनलाइन जुडेंगे।


----------


जिले में 23 और 24 जुलाई को ग्राम प्रधानों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण दो सत्र में संचालित होगा। इसमें ग्राम प्रधानों को उनके कर्तव्यों और दायित्वों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। ताकि भविष्य में ग्राम पंचायतों में संचालित योजनाओं के संचालन में कोई दिक्कत ना हो।


-गुलाब सिंह, एडीपीआरओ, बलिया।


------------



रिपोर्ट धीरज सिंह

No comments