Breaking News

पूर्व जिलापंचायत सदस्य हत्यकांड : परिजनों व समर्थकों ने किया एनएच 31 पर चक्का जाम, 15 दिन के अंदर नही हुई गिरफ्तारी को करेंगे आत्मदाह


रिपोर्ट : धीरज सिंह


बलिया । बैरिया तिराहे पर मैनेजर सिंह स्मारक के सामने मंगलवार को सुबह 10:30 बजे के लगभग पूर्व जिला पंचायत सदस्य जलेश्वर सिंह हत्याकांड के मुख्य आरोपी हरि सिंह व अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जलेश्वर सिंह की बूढ़ी मां, भाई, पिता, चाचा, चाची, और उनके समर्थन में सैकड़ों की संख्या में बैरिया नगर पंचायत की महिलाएं तथा युवा जुट कर एनएच 31 पर चक्का जाम कर दिया। वहां मृतक जलेश्वर सिंह की बूढ़ी मां तेतरी देवी हत्या आरोपियों से रिश्वत लेकर मामले में टालमटोल करने का पुलिस पर आरोप लगाते हुए जनता के बीच सड़क पर आकर न्याय की मांग कर रही थी। 



जलेश्वर सिंह के भाई नितेश सिंह आरोप लगा रहे थे की इस बीच में हम लोगों को मोबाइल से जान से मारने की धमकी मिल रही है। जिसकी सूचना हम लोग पुलिस को दिए भी हैं, लेकिन आरोपी हरि सिंह व अन्य आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। उसके किसी जगह पर होने की सूचना हम लोगों को मिलती है तो हम पुलिस को बताते हैं। बावजूद इसके पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर रही है। घटना को हुए दूसरा महीना बीत रहा है। हम लोग वीडियो बनाकर दिखा सकते हैं कि मुख्य आरोपी हरि सिंह कहां है। वह अक्सर लखनऊ में देखे जा रहा हैं। जिसकी सूचना हम लोगों ने पुलिस को दी। लेकिन उसे ना तो गिरफ्तार पुलिस कर रही है और ना ही मामले में आगे बढ़ रही है। इस तरह की घटनाओं में आरोपियों के घर के लोगों को पुलिस बैठा लेती है। घर गिरा देती है। दरवाजा तोड़ देती है। सामान नष्ट कर देती है। लेकिन यहां आरोपी के घर एक बार भी पुलिस नहीं गई। इस बीच हम लोगों ने सीओ, एसडीएम, डीएम और पुलिस अधीक्षक सबके यह गुहार लगाई। सब जगह से त्वरित कार्रवाई का आश्वासन मिला, लेकिन कोई कार्यवाही हुई हो ऐसा हम लोगों ने महसूस नहीं किया।



बताते चलें कि बीते 7 जुलाई को बैरिया में चिरैया मोड़ के पास पूर्व जिला पंचायत सदस्य जलेश्वर सिंह पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर उनकी हत्या कर दी गई थी। जिस मामले में पूर्व जिला पंचायत सदस्य के भाई की तहरीर पर बैरिया पुलिस ने चार नामजद व दो अज्ञात पर हत्या व हत्या की साजिश का मुकदमा दर्ज कर अभी तक जांच व कार्यवाही कर रही है। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज आज चक्का जाम व पुलिस के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया। मौके पर पहुंचे एसएचओ बैरिया राजीव मिश्र ने हाईवे पर चक्का जाम किए लोगों से बातचीत की। बताया कि इस मामले में 3 लोगों की गिरफ्तारी साक्ष्य के आधार पर 17 जुलाई को ही की जा चुकी है। यह बात सभी लोग जानते हैं। एक आरोपी पर ₹25000 का इनाम भी घोषित किया गया है। एसएचओ ने चक्का जाम किए लोगों से कहा कि अभी हम लोगों की कार्यवाही चल रही है। 15 दिन के अंदर हम सभी कार्यवाही कर देंगे गिरफ्तारी भी कर लेंगे। कई टीमें लगाई गई है जो दिन रात इस पर काम कर रही हैं। काफी देर तक बातचीत चली जिसके बाद जलेश्वर सिंह के परिजनों ने 15 दिन के अंदर मुख्य आरोपीयों की गिरफ्तारी नहीं होने पर बैरिया तिराहे पर आत्मदाह करने की चेतावनी के साथ चक्का जाम व धरना स्थगित कर दिया। लगभग 2 घंटे चक्का जाम के बाद एनएच 31 पर यातायात का परिचालन शुरू हो सका।

No comments