Breaking News

गाँव में ही मिलेगी यूपी के युवाओं को नौकरी, जानें क्या योगी सरकार का प्लान




 लखनऊ: उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में जल्द ही मिनी सचिवालय का निर्माण किया जाना है ऐसे में सरकार ने उसकी देखभाल और पंचायत में कराए जाने वाले कार्यों से जुड़े दस्तावेज तैयार करने जैसे विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए प्रत्येक पंचायत भवन/मिनी सचिवालयों में पंचायत सहायक की तैनाती करने का ऐलान किया है और इनकी भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत भी की जा चुकी है। आवेदन प्रक्रिया 2 अगस्त से शुरू हुई है जो 17 अगस्त तक जारी रहेगी। इस भर्ती के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में कुल 58,189 पदों पर भर्तियां की जाएंगी जिसके लिए कोई भी बारहवीं पास उम्मीदवार आवेदन कर सकता है जिसने न्यूनतम 18 वर्ष की आयु पूरी कर ली हो।  इस पद में उमीदवारों का चयन मेरिट के आधार पर किया जाएगा। 

कितनी मिलेगी सैलरी

जिन उम्मीदवारों को मेरिट के आधार पर पंचायत सहायक पद के लिए चयनित किया जाएगा उन्हें प्रतिमाह 6 हजार रुपये दिए जाने का प्रावधान रखा गया है। 

क्या होंगे पंचायत सहायक के कार्य 

  • अगर आपका चयन पंचायत सहायक के पद पर होता है तो ऐसे में आपको पंचायत से जुड़ी कई तरह की जिम्मेदारियों का निर्वहन करना पड़ेगा। इसके अंतर्गत अभ्यर्थी को-
  • गाँव के लोगों की समस्या सुनकर या फिर किसी समस्या का मुआयना करके समस्याएं प्रधान और सचिव तक पहुंचाना। 
  • मनरेगा में कार्य कर रहे व्यक्तियों का लेखा-जोखा रखना और उनका कार्य देखना। 
  • किसी भी योजना के पात्र व्यक्तियों का लेखा-जोखा सरकार को भेजना। 
  • गाँव में चल रहे कार्यों की निगरानी रखना और उन्हें सही ढंग से पूरा करवाना। 
  • किसी भी ग्रामीण के साथ दुर्घटना हो जाने पर उसे मुआवजा दिलाने का कार्य करना। 
  • इसके अलावा ग्राम पंचयतों में पंचायत सहायक को पंचायत भवन में कंप्यूटर यानि कंप्यूटर ऑपरेटर का भी काम निपटाना होगा। 

डेस्क

No comments