Breaking News

सरयू का जलस्तर बढ़ने से फ्लड जोन में बसे बाढ़ के पानी से घिरे गांवो का संपर्क बंधे से कटा

 


रेवती (बलिया ) गंगा नदी के बाद अब सरयू के कहर से टीएस बंधा के फल्ड जोन में बसे तटवर्ती गांवों के  लोगो की धड़कने बढ़ती जा रही जा रही है । चांदपुर में नदी खतरे के निशान 58 मीटर से 76 सेमी ऊपर व अब भी बढाव पर है । नदी के लगातार बढने के चलते नवकागांव के पासवान बस्ती , देवपुर मठिया के हरिजन बस्ती , धूपनाथ के डेरा तथा बैजनाथ के डेरा गांवों के लगभग 2500 आबादी का संपर्क टीएस बंधा से कट गया है । खेत , फसले बाढ़ के पानी से पहले ही डूबी हुई है । अब गांव पानी से चारों तरफ से घिर जाने से लोगो की मुश्किलें बढ़ गई है । गांव से बंधे तक आने जाने के लिए एक मात्र नाव ही साधन रह गया है ।




 नवकागांव के प्रधान संजय यादव ने बताया कि सरकारी सहायता के नाम अभी मात्र पांच नावे लगाई गई है । खाद्यान्न , मिट्टी तेल व पका पकाये भोजन की किल्लत झेलनी पड़ रही है । फ्लडजोन में बंधे से 2.50 कि मी  उत्तर बसे धूपनाथ के डेरा में लगभग एक दर्जन से अधिक घर तथा बंधे से 3 तीन कि मी दूर बसे बैजनाथ के डेरा पर 35-36 घर है । पूर्व प्रधान धूपनाथ यादव ने बताया कि धूपनाथ के डेरा के लिए एक नाव व बैजनाथ के डेरा के लिए दो नाव कुल तीन नाव प्रशासन ने उपलब्ध कराया है । धूपनाथ के डेरा के लिए एक और नाव लगना चाहिए । सबसे  अधिक परेशानी भोजन बनाने को लेकर है। पूर्व प्रधान ने बाढ़ से घिरे लोगो के लिए भोजन के पैकेट उपलब्ध कराने की मांग जिला प्रशासन से की है ।


पुनीत केशरी

No comments