Breaking News

खतरे के निशान पार करने पर डेढ़ किमी नाव से नदी में चलकर नापना पड़ता है गेज

 


रेवती (बलिया ) चांदपुर में सरयू के जलस्तर के गेज को नापने के लिए चांदपुर डाक बंगले से डेढ़ कि मी उत्तर फ्लड जोन में गेज बना हुआ है । नदी के खतरे के निशान 58 मीटर से ऊपर बढ़ाव के चलते डाक बंगला से गेज तक बाढ का पानी भर जाता है । ऐसे में चांदपुर में गेज नापने के लिए कार्यरत गेज रीडर राम जी मिश्र को सुबह शाम गेज की रीडिंग के लिए नाव से आना जाना पड़ता है । श्री मिश्रा बताते है कि हालांकि उनको तैरना नही आता । थोड़ा भय अवश्य लगता है किन्तु साथ में नाविक के रहने पर बल (साहस) बना रहता है । मिश्रा बीते एक दशक से गेज रीडिंग का कार्य देख रहे है ।


पुनीत केशरी

No comments