Breaking News

मां के प्रसाद और जड़ी बूटियों के सेवन से ठीक हुई इस चिकित्सक की एड्स की लाइलाज बीमारी

 



बलिया: भले ही चिकित्साविज्ञान एचआईवी एड्स की दवा बनाने के मामले में अभी शोध के दौर से गुजर रहा है, लेकिन पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर के पुजारी रामबदन भगत द्वारा दी जाने वाली जड़ी बूटियां और मां का प्रसाद इस बीमारी के इलाज के लिए कारगर साबित हो रहा है. तभी तो गाजीपुर जनपद के करंडा थाना क्षेत्र के करकटपुर धरमरपुर निवासी रविकांत सिंह यादव पुत्र जयप्रकाश यादव स्वयं चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े डाक्टर हैं और दिल्ली में नर्सिंग होम का संचालन करते हैं, लेकिन  एचआईवी एड्स ने इस चिकित्सक को भी अपनी गिरफ्त में ले लिया. 





इसके इलाज के लिए रविकांत ने एम्स और बीएचयू समेत तमाम बड़े अस्पतालों के चक्कर लगाए, लेकिन हर जगह निराशा ही हाथ लगी. तभी इनके किसी परिचित ने उन्हें पकड़ी धाम में स्थित काली मंदिर जाने और मां का आशीर्वाद लेने की सलाह दी. इसके बाद रविकांत पकड़ी धाम स्थित काली मंदिर पहुंचे और मंदिर के पुजारी रामबदन भगत से अपनी समस्या बताई. रविकांत की बात सुनकर पुजारी राम बदन ने एक जड़ी देने के साथ से ही गोली, फकिया और तेल दिया तथा उसके नियमित सेवन की बात कही. रविकांत बताते हैं कि आश्चर्यजनक परिणाम सामने आया और जिस बीमारी को लेकर वो परेशान थे. जड़ी के साथ ही फकिया, गोली और तेल के सेवन से वह दूर हो गई. इसका प्रमाण बीएचयू में हुई जांच में भी हुआ.


डेस्क

No comments