Breaking News

Akhand Bharat

डायरिया से प्रभावित हरिपुर गांव में पहुंचे जेडी, ग्रामीणों से ली स्वास्थ्य की जानकारी

 


रतसर (बलिया) क्षेत्र के हरिपुर गांव की अनुसूचित बस्ती में रविवार को एक दर्जन से अधिक डायरिया के मरीज मिलने से हड़कम्प मच गया था। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरे तन्मयता के साथ गांव में डेरा डाल दिया है। मंगलवार को जेडी आजमगढ़ डा०पी.के . मिश्रा स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ हरिपुर गांव पहुंचे और पीड़ितों का हाल जाना। श्री मिश्रा ने बताया कि दुषित पेयजल का सेवन करने से डायरिया फैली है। इसके लिए मौके से एसडीएम को फोन से बात कर दो टैंकर पेयजल की व्यवस्था गांव में कराने का निर्देश दिया। वहीं खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि गांव में साफ- सफाई की व्यवस्था दुरुस्त रखे। बताते चले कि विगत तीन दिन पूर्व दुषित जल के सेवन करने से 13 डायरिया के मरीज गांव में मिले थे जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग में हड़कम्प मच गया था। इसके पूर्व सोमवार को जिला संचारी विभाग द्वारा जिला महामारी अधिकारी डा० जियाउल हुदा के नेतृत्व में मेडिकल टीम गांव पहुंच कर पीड़ित परिवार से मिले थे। और उन्हें खान- पान एवं साफ सफाई का निर्देश देते हुए दवा का वितरण किया था। डा० मिश्रा ने बताया कि स्थिति अब नियन्त्रण में है ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि अगर किसी को उल्टी-दस्त की शिकायत होती है तो तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रतसर या जिला संचारी विभाग को इसकी सूचना दे । गांव में तैनात आशा संगिनी एवं आशा को निर्देश दिया कि गांव की स्थिति पर नजर रखे। वही ग्रामीणों की सूचना पर सीएचसी रतसर से डा० अमित वर्मा के नेतृत्व में रविवार से ही स्वास्थ्य विभाग की टीम कैम्प लगाकर साफ- सफाई एवं दवा वितरण का कार्य कर रही है। सीएचसी प्रभारी डा० राकिफ अख्तर ने बताया कि गांव में स्वास्थ्य विभाग की टीम तैनात कर दी गई है हमारी टीम गांव में लोगों को स्वच्छता, दवा एवं साफ - सफाई के बारे में जानकारी दे रही है। स्थिति अब पूरी तरह नियन्त्रण में है। जिला स्तरीय टीम में डा० केशव प्रसाद के साथ ही सीएचसी स्तरीय टीम में डा० अमित वर्मा, फार्मासिस्ट जे.बी.सिंह के अलावा आशा संगिनी मीरा एवं माया उपाध्याय आशा कार्यकर्ता मौजूद रहे ।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments