Breaking News

Akhand Bharat

आशा संघ के जिला अध्यक्ष के साथ 121 आशाओं व संगिनियों अपनी मांगों के लिए सौंपा ज्ञापन





 बलिया !आज शुक्रवार को जिला आशा संघ बलिया के जिलाध्यक्ष पूनम पांडेय के नेतृत्व में 121 आशाओं व संगिनियों का प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी कार्यालय बलिया पर जाकर उनके प्रतिनिधि प्रशासनिक अधिकारी से मिलकर 09 सूत्रीय ज्ञापन सौंपने के बाद विकास भवन बलिया पहुंचकर मुख्य विकास अधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी बलिया से उनकी गाड़ी में ही मिलकर 9 सूत्रीय मांग पत्र को  सौंप कर ,एक-एक कर समस्याओं एवं बकाया पावना की धन राशि के बारे में आशाओं ने बतायीं,जिसको सुनने के बाद  मुख्य विकास अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी दोनों अधिकारियों ने आशाओं के प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि त्वरित समस्याओं का समाधान करवा कर शासन के मन्शा के अनुरूप शत प्रतिशत बाकी मानदेयों का भुगतान  करवा दिया जाएगा। आशाओं के मांगों में प्रमुख रूप से राज्य सरकार द्वारा प्रतिपूर्ति राशि रुपया 750 का भुगतान अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक 9 महीनों का नहीं हुआ है उसका भुगतान किया जाए, तथा इसी मद में वित्तीय वर्ष अप्रैल 2019 से मार्च 2020 का 1 वर्ष का भी बजट विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों की लापरवाही से नहीं मिला है बल्कि बजट लैप्स हो गया है जिसको राज्य से मंगवा कर दिया जाए, प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना एवं जननी सुरक्षा योजना तथा नसबंदी योजना में लाभार्थियों का भुगतान पूरे 01 वर्षों का नहीं हुआ है, उसका भुगतान किया जाए तथा जनपद के जिन स्वास्थ्य उप केंद्रों पर सी. एच .ओ. की तैनाती है वहां की आशाओं को प्रतिमाह ₹1000 पीपीआई के तहत दिया जाए क्योंकि सी. एच .ओ .का भुगतान कर दिया गया है ,कोरोना टीका करण सत्र पर सहयोग करने पर मिलने वाली राशि प्रति व्यक्ति रुपया 350 दिया जाए, संगीनियों को नेट पैक चलाने हेतु अप्रैल 2021 से आज तक का 9 महीने का भुगतान किया जाए, तथा अक्टूबर 2021 से संगीनियों को 24 भिजिट का मानदेय दिया जाए, तथा आयुष्मान कार्ड,गोल्डन कार्ड बनवाने में मिलने वाली धनराशि का भुगतान किया जाए, मातृत्व योजना अंतर्गत प्रति लाभार्थियों के प्रपत्रो के सहयोग हेतु प्रति फार्म रुपया 50 का भुगतान 01 नवंबर 2018 से आज तक का यानी 38 माहों का संगिनीयों को किया जाए, क्योंकि इस धन का बंदरबांट कर लिया गया है; आशाओं एवं संगिनीयों को केंद्रीय कर्मचारी का दर्जा देकर नियमित करके प्रतिमाह रुपया 24000 दिया जाए तथा पेंशन दिया जाए, सेवा के समय मृत्यु होने पर बेटि या बहू को वरीयता दिया जाए ,जनपद के सभी सरकारी प्रसव  स्थलों पर निशुल्क दवाइयां एवं ठहरने, शौच ,स्नान व भोजन; कंबल आदि की व्यवस्था किया जाए, क्योंकि आशाएं 24 घंटे रात दिन सेवा में तत्पर रहती है । अंत में जिला आशा संघ बलिया  की जिलाध्यक्ष पूनम पांडेय ने कही कि यदि हमारी मांगों को 09 दिनों के अंदर नहीं मानी जाती है, और शत-प्रतिशत शासन के नियमानुसार भुगतान नहीं किया जाता है, तो बाध्य होकर संघ जनपद और प्रदेश स्तर के अधिकारियों से संपर्क करके उपवास और अनशन आगामी 02 जनवरी 2022 दिन सोमवार से करेगा ।

इस अवसर पर विद्यावती सिंह, सुषमा सिंह; प्रेम कुमारी यादव, संगीता गुप्ता, उषा ठाकुर,मीना दुबे; शीला सिंह;रागिनी सिंह, सुनैना प्रजापति, कंचन सिंह;हीरा सिंह, अभिलाषा सिंह,मंदारा वती राजभर, अंजू यादव, आरती राय; रीना तिवारी, श्यामा पांडे, आदि मौजूद थी ।

रिपोर्ट त्रयंबक नारायण देव गांधी

No comments