Breaking News

Akhand Bharat

29 दिसंबर का पंचांग और राशिफल: वर्ष के आखिरी बुधवार को संयम बरतें इस राशि वाले


 .



               *।। 🕉️ ।।* 

    🚩🌞 *सुप्रभातम्* 🌞🚩

📜««« *आज का पंचांग* »»»📜

कलियुगाब्द........................5123

विक्रम संवत्.......................2078

शक संवत्..........................1943

रवि.............................दक्षिणायन

मास....................................पौष

पक्ष....................................कृष्ण

तिथी.......................... .......दशमी

दोप 04.07 पर्यंत पश्चात एकादशी

सूर्योदय............प्रातः 07.06.23 पर

सूर्यास्त............संध्या 05.51.54 पर

सूर्य राशि...............................धनु

चन्द्र राशि.............................तुला

गुरु राशि..............................कुम्भ

नक्षत्र.................................स्वाति

रात्रि 02.30 पर्यंत पश्चात विशाखा

योग..................................सुकर्मा

रात्रि 01.10 पर्यंत पश्चात धृति

करण..................................विष्टि

दोप 04.07 पर्यंत पश्चात बव

ऋतु...................................हेमंत

दिन.................................बुधवार


🇬🇧 *आंग्ल मतानुसार* :-

29 दिसम्बर सन 2021 ईस्वी ।


👁‍🗨 *राहुकाल* :-

दोपहर 12.28 से 01.48 तक ।


🌞 *उदय लग्न मुहूर्त :-*

*धनु*

06:11:04 08:17:55

*मकर*

08:17:55 10:03:49

*कुम्भ*

10:03:49 11:37:22

*मीन*

11:37:22 13:08:34

*मेष*

13:08:34 14:49:18

*वृषभ*

14:49:18 16:47:56

*मिथुन*

16:47:56 19:01:37

*कर्क*

19:01:37 21:17:48

*सिंह*

21:17:48 23:29:36

*कन्या*

23:29:36 25:40:16

*तुला*

25:40:16 27:54:53

*वृश्चिक*

27:54:53 30:11:04 


🚦 *दिशाशूल* :-

उत्तरदिशा - यदि आवश्यक हो तो तिल का सेवन कर यात्रा प्रारंभ करें ।


☸ शुभ अंक..........................2

🔯 शुभ रंग..........................हरा


💮 *चौघडिया :-*

प्रात: 08.28 से 09.48 तक अमृत

प्रात: 11.08 से 12.27 तक शुभ

दोप 03.07 से 04.26 तक चंचल

सायं 04.26 से 05.46 तक लाभ

रात्रि 07.27 से 09.07 तक शुभ ।


📿 *आज का मंत्र* :-

|| ॐ ईशानपुत्राय नम: ||


📯 *संस्कृत सुभाषितानि :-*

चलत्येकेन पादेन तिष्ठत्यन्येन पण्डितः ।

नापरीक्ष्य परं स्थानं पूर्वमायतनं त्यजेत् ॥ 

अर्थात :-

बुद्धिमान मनुष्य एक पैर से चलता है और दूसरे पैर से खडा रहता है (आधार लेता है) । अर्थात् दूसरा स्थान जाने और पाये बगैर पूर्वस्थान छोडना नहीं ।


🍃 *आरोग्यं :*-

*मुँह के छालो का घरेलू उपचार -*


*1. त्रिफला -*

इसके राख को शहद में मिलाकर छाले वाले स्थान पर लगायें. मुँह में थूक भर जाने पर कुल्ला करें. इससे छालों से राहत मिलती है. 


*2. नीम की छाल -*

दालचीनी, मुनक्का, नीम की छाल और इंद्र जौ को मिलाकर काढ़ा बना लें. इस काढ़े में शहद को मिलाकर पीने से छालों की समस्या में राहत मिलती है.


*3. अमृतधारा -*

अमृतधारा में तीन द्रव्य होते हैं- पेपरमिंट, सत अजवायन और कपूर को एक शीशे में डालकर धूप में रखें. यह पिघलकर अमृतधारा बन जाती है. मुँह के छालों में यह राहत देती है.  


⚜ *आज का राशिफल :-*


🐐 *राशि फलादेश मेष :-*

*(चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ)*

उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। भूमि व भवन संबंधी बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल रहेगा। बड़ा काम करने का मन बनेगा। रोजगार प्राप्ति के प्रयास सफल रहेंगे। आय में वृद्धि होगी। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। आवश्यक वस्तु समय पर नहीं मिलने से क्रोध रहेगा।


🐂 *राशि फलादेश वृष :-*

*(ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)*

यात्रा मनोरंजक रहेगी। पार्टी व पिकनिक का आनंद मिलेगा। मनपसंद भोजन की प्राप्ति संभव है। रचनात्मक कार्य सफल रहेंगे। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। पारिवारिक सदस्यों तथा मित्रों के साथ आनंदायक समय व्यतीत होगा। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।


👫 *राशि फलादेश मिथुन :-*

*(का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह)*

धैर्य रखें, समय सुधरेगा। बुरी सूचना मिल सकती है। मेहनत अधिक होगी। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। आय में कमी रहेगी। नकारात्मकता बढ़ेगी। विवाद से क्लेश होगा। जल्दबाजी में कोई महत्वपूर्ण निर्णय न लें। अनावश्यक परेशानी खड़ी हो सकती है। दूसरों की बातों में न आएं।


🦀 *राशि फलादेश कर्क :-*

*(ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)*

जीवनसाथी से सहयोग मिलेगा। घर-परिवार में प्रसन्नता रहेगी। बाहर जाने का मन बनेगा। भाइयों से मतभेद दूर होंगे। घर-परिवार की चिंता रहेगी। किसी वरिष्ठ व्यक्ति का मार्गदर्शन व सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय लाभप्रद रहेगा। वाणी में हल्के शब्दों के प्रयोग से बचें। संतान पक्ष से खुशियां प्राप्त होंगी।


🦁 *राशि फलादेश सिंह :-*

*(मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)*

विवेक का प्रयोग करें। आय बनी रहेगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यापार ठीक चलेगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। कार्य करते समय लापरवाही न करें। बनते कामों में बाधा हो सकती है। विवाद से बचें। काम में मन नहीं लगेगा। किसी व्यक्ति के उकसाने में न आएं।


🙎🏻‍♀️ *राशि फलादेश कन्या :-*

*(ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)*

पारिवारिक सुख-शांति बनी रहेगी। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से सहयोग प्राप्त होगा। पूजा-पाठ में मन लगेगा। तीर्थदर्शन हो सकते हैं। विवेक का प्रयोग करें, लाभ होगा। मित्रों के साथ अच्‍छा समय बीतेगा। विरोध होगा। चिंता तथा तनाव रहेंगे। झंझटों में न पड़ें। जल्दबाजी से हानि होगी। आलस्य हावी रहेगा।


⚖ *राशि फलादेश तुला :-*

*(रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)*

रुके कार्यों में गति आएगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा। व्यापार ठीक चलेगा। मनोरंजक यात्रा हो सकती है। मित्रों के साथ अच्‍छा समय व्यतीत होगा। उत्साहवर्धक सूचना प्राप्त होगी। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी। घर-बाहर सुख-शांति रहेगी। झंझटों में न पड़ें। ईर्ष्यालु सक्रिय रहेंगे। सामाजिक कार्यों में मन लगेगा। दूसरों की सहायता कर पाएंगे। मान-सम्मान मिलेगा।


🏹 *राशि फलादेश वृश्चिक :-*

*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*

आय में वृद्धि होगी। बिगड़े काम बनेंगे। प्रसन्नता रहेगी। मित्रों के साथ अच्‍छा समय व्यतीत होगा। मनोरंजक यात्रा की योजना बनेगी। डूबी हुई रकम प्राप्त हो सकती है। व्यस्तता के चलते स्वास्‍थ्य बिगड़ सकता है, ध्यान रखें। व्यापार-व्यवसाय लाभदायक रहेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। प्रमाद न करें।


🏹 *राशि फलादेश धनु :-*

*(ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे)*

व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। भ्रम की स्थिति बन सकती है। बुद्धि का प्रयोग करें। कोई नया बड़ा काम करने की योजना बनेगी। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। लाभ में वृद्धि होगी। समय प्रसन्नतापूर्वक व्यतीत होगा।


🐊 *राशि फलादेश मकर :-*

*(भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)*

व्यावसायिक साझेदार पूर्ण सहयोग करेंगे। कोई नया उपक्रम प्रारंभ करने का मन बनेगा। यात्रा मनोरंजक रहेगी। भेंट व उपहार की प्राप्ति संभव है। किसी बड़ी समस्या का हल मिलेगा। सेहत का ध्यान रखें। वरिष्ठजनों की सलाह काम आएगी। नए मित्र बनेंगे। आय बनी रहेगी। हर कार्य बेहतर होगा।


🏺 *राशि फलादेश कुंभ :-*

*(गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)*

अनावश्यक जोखिम न लें। किसी भी व्यक्ति के उकसावे में न आएं। फालतू खर्च होगा। पुराना रोग उभर सकता है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। महत्वपूर्ण निर्णय लेने का समय नहीं है। चिंता तथा तनाव रहेंगे। व्यापार मनोनुकूल चलेगा। सेहत को प्रा‍थमिकता दें। लेन-देन में जल्दबाजी से हानि होगी।


🐋 *राशि फलादेश मीन :-*

*(दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)*

मान-सम्मान मिलेगा। व्यापार मनोनुकूल चलेगा। योजना फलीभूत होगी। घर-परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन के साथ समय व्यतीत होगा। कार्यस्थल पर परिवर्तन संभव है। विरोध होगा। काम करते समय लापरवाही न करें। चोट लग सकती है। थकान तथा कमजोरी महसूस होगी। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा।


☯ *आज का दिन सभी के लिए मंगलमय हो ।*


।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।


🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय* 🚩🚩

No comments