Breaking News

Akhand Bharat

जाने कहां के प्रधान ने पुलिस के सामने लगाई गुहार




 


मनियर बलिया । थाना क्षेत्र के ग्राम बहदुरा में बुधवार की देर  शाम कथित तौर पर चुनावी रंजिश  का हवाला देते  हुए ग्राम प्रधान ने अपने उपर कट्टा तानने को लेकर तीन आरोपियों के विरूद्ध पुलिस को नामजद तहरीर दी है। प्रधान की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा पंजीकृतकर आरोपी की तालाश मे जुटी हुई है ग्राम प्रधान शिवनाथ प्रसाद ने  अपनी तहरीर में  दर्शाया  है कि प्रार्थी अनुसूचित जाति का है व वर्तमान में बहदुरा का ग्राम प्रधान है। चुनावी रंजिश को लेकर तीन नामजद आरोपियों ने एक गोल बनाकर  बुधवार की शाम 6 बजे मेरे लड़के नितेश कुमार पुत्र शिवनाथ प्रसाद को मेरे दरवाजे पर आकर गाली देते हुए जातिसूचक शब्दों का प्रयोग किया । लड़के द्वारा विरोध करने पर दो आरोपियों ने मेरे लड़के को पकड़ कर जान से मारने की धमकी देते हुए मारने लगे । इसी बीच एक आरोपी ने अपने पास रखे हुए लोडेड कट्टे को निकाल लिया । वह फायर करने ही वाला था कि हमारे  भतीजे सहित गाँव के अन्य लोगों ने दौड़कर कट्टे को छीन लिया तथा दूरभाष द्वारा पुलिस को सूचना दी । फोर्स पहुँचने तक अभियुक्तगण मौके से फरार हो गए तथा बरामद कट्टा को पुलिस को दे दिया गया । सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुँची एहतियातन तैनात भी रही । हाँलाकि दबी जुबान घटना का कारण बच्चों के बीच का विवाद भी बताया जा रहा है। पुलिस ने मामले में कारवाई करते हुए गुरूवार को तीन आरोपियों के विरूद्ध धारा 323,504,506,3(2),3(1)ध के तहत मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। समाचार लिखे जाने तक सभी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर बताए जा रहे थे ।


इनसेट मे 

घटना के सम्बन्ध मे चर्चा है बुधवार को छोटे छोटे बच्चो मे पहले विवाद हुआ एक पक्ष के परिजन ने बच्चे के मदद मे आकर दुसरे पक्ष के बच्चे को मार दिया शाम को आये प्रधान ने सबको बुलाकर बात चित कर रहे थे कि  इसी बीच मामला तुल पकड़ लिया  चर्चा है कि  इसी बीच एक युवक ने प्रधान के उपर असलहा तान दिया जिससे भगदड़ मच गयी । इसी बीच लोगो ने युवक से असलहा छीन लिया  व पुलिस को सुचना दी । मौके पर  पुलिस पहुचने से पहले आरोपी फरार हो गये लोगो ने असलहा पुलिस को शौप दिया । प्रधान ने घटना की सुचना उच्च अधिकारीयो को दी  सुचना के बाद क्षेत्राधिकारी बांसडीह प्रीति  त्रिपाठी    भी मौके पर पहुची व तत्काल करवाई करने का आदेश  सम्बन्धितो को दी 


रिपोर्ट -राममिलन तिवारी

No comments