Breaking News

Akhand Bharat

गांव-गांव में घुमकर कर खोजे जाएगें कुष्ठ मरीज, 13 फरवरी तक चलेगा अभियान


 




रतसर (बलिया):महात्मा गांधी की पुण्य तिथि पर 30 जनवरी को कुष्ठ निवारण दिवस का आयोजन किया गया । इस दौरान 13 फरवरी तक स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। इस बाबत गुरुवार को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के सभागार में अधीक्षक डा० राकिफ अख्तर ने आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया। जिसमें उन्होंने बताया कि 31 जनवरी से 13 फरवरी तक कुष्ठ जागरूकता अभियान के दौरान घर- घर भ्रमण कर कुष्ठ रोग के बारे में जानकारी देनी है और समुदाय को जागरूक करना है। डा० अख्तर ने बताया कि कुष्ठ रोग एक बैक्टीरिया लेप्रा बेसीलाई के कारण होता है। कुष्ठ रोग के कारण प्रभावित अंगों में अक्षमता एवं विकृति आ जाती है, इसलिए छिपे हुए रोगियों को जल्द से जल्द खोजकर जांच व उपचार कर कुष्ठ रोग का प्रसार रोका जा सकता है और समाज को कुष्ठ मुक्त किया जा सकता है। पर्यवेक्षक गोपाल जी पाण्डेय ने बताया कि अभियान के तहत रैली, ग्राम एवं स्कूल भ्रमण कर संभावित रोगियों की खोज, ग्राम सभा में शपथ एवं घोषणा पत्र का वाचन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुष्ठ रोग के चलते दिव्यांगता होने पर विभाग की ओर से निःशुल्क एमसीआर चप्पल का वितरण किया जाता है साथ ही सेल्फ केयर किट भी दिया जाता है। इसके अलावा दिव्यांगता की स्थिति में मरीज को 2500 रुपए प्रतिमाह का पेंशन आजीवन दिया जाता है। प्रशिक्षण में पर्यवेक्षक हरिकिसुन सिंह,आशुतोष सिंह,अनिल कुमार, विक्रमा यादव,शशिकान्त शर्मा, पियुष बाबू, सुमित सिन्हा, अमित गुप्ता आदि मौजूद रहे।


रिपोर्ट धनेश पांडेय

No comments