Breaking News

Akhand Bharat

बदलते मौसम में सेहत का रखें खास ख्याल- मुख्य चिकित्सा अधिकारी



- दिन में गर्मी और रात में ठंडी से बचने के लिए बरतें जरूरी सावधानी

बलिया, 22 फ़रवरी 2022

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० नीरज कुमार पाण्डेय  का कहना है कि मौसम बदल रहा है। मौसम परिवर्तन से सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियां लोगों की परेशानी बढ़ा रही हैं। ऐसे बदलते मौसम की चपेट में सबसे पहले बच्चे और बुजुर्ग ही आते हैं। बच्चों को सर्दी-खांसी, जुकाम जैसे तरह-तरह के वायरल और दूसरी बीमारियों से बचाने के लिए उनका ख़ास ख्याल रखने की आवश्यकता है।

 डॉ. पाण्डेय ने बताया कि आजकल तापमान में उतार-चढ़ाव शुरू हो गया है।  दिन का तापमान बढ़ जाता है तो वहीं रात में पारा कम हो जाता है।  ऐसे में थोड़ी सी लापरवाही सेहत बिगाड़ सकती है।  खासकर जिस व्यक्ति की शारीरिक रोग-प्रतिरोधक क्षमता  कमजोर है। खासकर छोटे बच्चों, बुजुर्ग, एनीमिया ग्रसित महिलाओं में ज़्यादातर यह वायरल देखा जा रहा है। ऐसी लापरवाही काफी महंगी भी साबित हो सकती है।  जनपद में सर्दी, जुकाम व बुखार के मरीज प्रतिदिन बढ़ रहे हैं। इस बदलते मौसम में दमा के रोगियों की समस्या बढ़ जाती है।  यह एक एलर्जिक बीमारी है, जिसमें सांस फूलने लगती है और श्वसन मार्ग धीरे-धीरे सिकुड़ने लगता है। इसका प्रमुख कारण वायु प्रदुषण, धूल, सिरगेट का धुआं आदि है।  इसलिए इन सभी चीजों से होने वाली एलर्जी से दूर रहें। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि गले में खराश, सिर दर्द, सांस लेने में दिक्कत, हल्का बुखार आना, आँखों में जलन, शरीर में दर्द है तो समझ जाइये कि आप बदलते मौसम के शिकार हो रहे हैं और इससे सावधानी रखना शुरू करें और संक्रमण से बचने का उपाय करें।  सामान्य तापमान के पानी से नहायें व सुबह-शाम की ठंड से बचने के लिए पूरी आस्तीन या गर्म कपड़े पहनें। छींकते समय अपने मुंह पर रुमाल जरुर रखें। सुबह-शाम  गुनगुने पानी से गरारे करें और गर्म पानी का ही सेवन करें।  घर से बाहर निकलने पर मास्क जरुर पहनें।


रिपोर्ट - त्रयंबक नारायण देव गांधी

No comments