Breaking News

Akhand Bharat

अंतर्राष्ट्रीय पत्र लेखन में सनबीम के बच्चों ने किया प्रतिभाग

 



 बलिया । प्रतिभा छुपाए नहीं छुपती। उसका प्रभाव परिलक्षित हो ही जाता है। वार्षिक परीक्षाओं के तुरंत संपन्न होने व कुछ चलने के दौरान भी सनबीम स्कूल,  अगरसंडा के छात्र - छात्राओं ने भारत सरकार के मुख्य प्रधान डाकघरों द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय पत्र लेखन प्रतियोगिता 'जलवायु संकट' पर पत्र लेखन हेतु रविवार को बढ़-चढ़कर भाग लिया। लेखन कौशल में रचनात्मक निखार व बौद्धिक क्षमता को परिष्कृत करने के निमित्त बच्चों ने मिले मात्र एक दिन में ही यथासंभव तैयारी कर ली थी।

    विद्यालय के वरिष्ठ वर्ग के अंग्रेजी शिक्षक डॉ नवचंद्र तिवारी के मार्गदर्शन में बच्चों ने बलिया के मुख्य डाकघर में आयोजित परीक्षा में शामिल हुए। इस परीक्षा में विद्यालय के 18 छात्र सम्मिलित थे। इसमें कक्षा सातवीं से दसवीं तक के बच्चे 9 वर्ष से 15 वर्ष की आयु के मध्य थे। प्रतिभागियों में सेंट जेवियर्स,   कैस्टरब्रिज व सरस्वती विद्या मंदिर के बच्चे भी थे। जनपदीय प्रधान डाकघर के डाक अधीक्षक संजय त्रिपाठी व डाक निरीक्षक अंगद यादव ने बच्चों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया।



    विद्यालय के निदेशक डॉ कुंवर अरुण सिंह बच्चों को उत्साहित देख उन्हें शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश व देश स्तरीय आयोजन में इस विद्यालय के बच्चों ने प्रतिभाग कर सदैव सफलता का परचम लहराया है। अब अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भाग लेकर उन्होंने अपनी  अथक क्षमता के साथ मानसिक निरंतरता को भी सिद्ध करने का प्रयास किया है। प्रशासक संतोष कुमार चतुर्वेदी व हेडमिस्ट्रेस ज्योत्सना तिवारी ने बच्चों के उज्जवल भविष्य की शुभ कामनायें की। बताते चलें कि इन्हीं बच्चों में से राष्ट्रीय स्तर पर अगले पुरस्कार के लिए चयनित होंगे। इस अवसर पर विद्यालय की शिक्षिका स्वर्णिमा द्विवेदी , डाक कार्यालय सहायक चंदन व कुमुद प्रकाश आदि व्यवस्था में लगे रहे ।




रिपोर्ट टीएनडी पांडेय गांधी

No comments