Breaking News

Akhand Bharat

स्नेक वेमन का इंजेक्शन लगाये बिना जिला मुख्यालय रेफर किये जाने से विषैले जंतु के दंश से पीड़ित 10 वर्षीय बच्ची की हुई मौत


 

 रेवती (बलिया ):सीएचसी रेवती के चिकित्सकों की उदासीनता के चलते विषैले जंतु की शिकार 10 वर्षीय रूची गुप्ता नामक बच्ची की स्नेक वेमन का टीका न लगने से जिला चिकित्सालय ले जाते समय रास्ते में ही मौत हो गई । 

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय थाना क्षेत्र हडियाकला ग्राम निवासी लाल जी गुप्ता की पुत्री को सोमवार की सायं छः बजे घर के कमरे के अंदर किसी विषैले जंतु ने दंश लिया । बच्ची के दाहिने पैर के दूसरी अंगुली से ब्लड निकलता देख लाल जी उसे बाईक से लेकर सीएचसी रेवती पर पहुंचे । इमरजेन्सी ड्यूटी पर तैनात डां राहुल कुमार ने बच्ची का पैर धुलवाया । कही सर्प दंश का चिन्ह नही दिखाई देने पर बच्ची की गंभीर स्थिति को देखते हुए रात 7:40 बजे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया । परिजनों से कहा गया कि बच्ची की स्थिति गंभीर है ऐम्बुलेंस के आने में विलंब हो सकता है यदि निजी साधन हो तो  तत्काल बलिया ले जाय। लाल जी बच्ची को बाईक से लेकर उसी समय जिला चिकित्सालय के लिए रवाना हो गये । जिला अस्पताल पहुंचने पर इमरजेन्सी में तैनात डाॅ द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया । परिजन उसे रात में ही गांव हडियाकला लाये व सरयू नदी में प्रवाहित कर दाह संस्कार कर दिया । 

लाल जी गुप्ता जिला भदोही के मर्याद पट्टी गांव सपरिवार रहते है । बीते 26 मार्च को परिवार की एक महिला के निधन पर सपरिवार हडियाकला आये थे । बच्ची रूची वही मर्याद पट्टी गांव के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा 3 मे पढ़ती थी । उनके चार बच्चिया है जिसमें यह दूसरे नंबर की थी । इस घटना से पूरे परिवार में मातम व शोक छा गया । 

--------

इस सम्बन्ध में सीएचसी के प्रभारी अधीक्षक डाॅ धर्मेद्र कुमार ने बताया कि स्नेक वेमन लगाने के लिए युनिट (टीम ) होती है । जब तक कंनफर्म न हो जाय तब तक इंजेक्शन नही लगाता जा सकता । परिजन भी सर्प दंश की पुष्टि मौके पर नही किये। जिला चिकित्सालय पर सारी सुविधाएं उपलब्ध है को देखते हुए उसे जिला मुख्यालय के लिए रेफर कर दिया ।


पुनीत केशरी

No comments