Breaking News

Akhand Bharat

अतिक्रमण के चलते पैदल चलना भी हुआ दूभर, मौन बने जिम्मेदार


 



रतसर (बलिया):सरकारी जमीनों पर अतिक्रमण और अवैध कब्जा हटाने को लेकर शासन तो पूरी तरह गंभीर है लेकिन शासन का निर्देश व जिलाधिकारी के आदेश का राजस्व विभाग के अधिकारियों पर इसका कोई असर नही हो रहा है। आलम यह है कि दबंग आज भी सार्वजनिक जमीन पर कब्जा जमाए बैठे है और प्रशासन इसके आगे बौना साबित हो रहा है। कई मामलों में तो राजस्व विभाग के अधिकारी कार्यवायी करने के बजाए शिकायत कर्ताओं को मामले के निस्तारण के लिए मुकदमा दायर करने का सुझाव देकर उसकी शिकायत को निस्तारित कर देते है। विकास खण्ड गड़वार क्षेत्र के न्याय पंचायत जनऊपुर में कम्पोजिट विद्यालय जाने वाले बारह फीट का रास्ता आज अवैध कब्जे के कारण मात्र दो फीट का रह गया है। इसके कारण विद्यालय जाने वाले छात्रों को लम्बी दूरी तय कर दुसरे रास्ते से विद्यालय जाना पड़ता है। उस रास्ते पर अवैध तरीके से बांस-बल्ली एवं पौधा लगाकर पूरी तरह से कब्जा कर लिया गया है। हालांकि इसके लिए राजस्व विभाग से ग्रामीणों ने कई बार शिकायत कर रास्ता पर से अतिक्रमण हटाने की मांग की गई लेकिन दबंगों का मौके पर आज भी अवैध कब्जा बरकरार है। गांव के उमेश पाण्डेय,राम प्रवेश पाण्डेय, बब्बन पाण्डेय आदि ग्रामीणों ने राजस्व विभाग के अधिकारियों एवं ग्राम प्रधान से रास्ते पर से अवैध कब्जा हटाने की मांग की है I

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments