Breaking News

Akhand Bharat

नगर पंचायत रतसर में ई- रिक्शा के प्रवेश पर प्रतिबन्ध लगने से अनशन पर बैठे ई- रिक्शा चालक, मौके पर पहुंचे चौकी प्रभारी की पहल पर सुलझा मामला


 



रतसर (बलिया):स्थानीय कस्बे में ई- रिक्शा को प्रशासन द्वारा बाजार में प्रतिबन्ध के बाद शनिवार को सभी ई- रिक्शा चालक  कस्बे के बीका भगत के पोखरे पर नाराबाजी करते हुए अनशन पर बैठ गए। जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने ई - रिक्शा चालकों से बात कर अनशन समाप्त कराया। बताते चले कि नगर पंचायत में दक्षिणी चट्टी से गांधी आश्रम जाने के लिए लगभग डेढ़ किमी की दूरी है। इसके अलावा बाइपास मार्ग से एक छोर से दूसरे छोर तक पहुंचने के लिए तीन किमी की दूरी तय करनी पड़ती है। बाजार मार्ग में दुकानदारों के अतिक्रमण के चलते हमेशा जाम की स्थिति बनी रहती है। दो पहिया वाहन और साइकिल सवार तो किसी तरह निकल जाते है लेकिन अगर तीन पहिया या चार पहिया वाहन बाजार में प्रवेश कर जाए तो जाम लग जाता है। समय- समय पर पुलिस प्रशासन द्वारा अतिक्रमण को हटाया भी जाता है लेकिन कुछ समय बाद दुकानदार पुनः कब्जा कर लेते है। इसी के चलते तीन पहिया एवं चार पहिया वाहन को प्रशासन ने बाजार में प्रवेश करने पर पूरी तरह प्रतिबन्ध लगा दिया है। इसी प्रतिबन्ध के चलते ई- रिक्शा चालक अनशन पर बैठे थे। अनशन की सूचना पर तत्काल मौके पर चौकी इंचार्ज गिरिजेश सिंह अपने हमराहियों के साथ पहुंचे और अपनी सुझ-बुझ का परिचय देते हुए ई-रिक्शा चालकों से बात कर समझौता कराया। समझौता कराने में किसान फोर्स के अध्यक्ष अखिलेश कुमार सिंह,मुरली मनोहर सिंह एवं फैजान अहमद शामिल रहे। इस मौके पर अशोक गोंड,रामजी गोंड, सुनील कुमार,आनन्द कुमार,मुन्ना पाण्डेय,विजय कुमार,शमीम अहमद,राम बिहारी,ओमप्रकाश राम, बलिराम,राजेश यादव, बब्लू प्रसाद सहित दर्जनों ई- रिक्शा चालक मौजूद रहे।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments