Breaking News

Akhand Bharat

राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा की शाखा खोलने की दर्जनों गांव के ग्रामीणों ने की मांग


 




रतसर(बलिया):विकास खण्ड गड़वार के न्याय पंचायत जनऊपुर के आस-पास के दर्जनों गांवों के ग्रामीणों ने क्षेत्र में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खुलवाने की मांग शासन से की है। शिकायत है कि क्षेत्र में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा ना होने से लोगों को बैंकिग कार्य के लिए छह से 15 किमी की दूरी तय करनी पड़ती है। प्रधानमंत्री जनधन योजना,बृद्धा,विधवा, दिव्यांग पेंशन,जननी सुरक्षा योजना,छात्रवृत्ति आदि के तहत खाता खुलवाने के लिए लोगों को रतसर,सुखपुरा या फिर जिला मुख्यालय जाना पड़ता है। सबसे ज्यादा परेशानी उन बुर्जूगों की होती है जो नौकरी के बाद सेवानिवृत्त होने पर मकान आदि बनवाने के लिए ज्यादा रकम की जरूरत पड़ता है। उसके लिए उन्हें कम से कम दस से 12 किमी दूरी तय करनी पड़ती है। दूरी होने की वजह से बहुतेरे लोगों का खाता बन्द हो चुका है। इस न्याय पंचायत से सटे नूरपुर,तपनी, जगदेवपुर,अरईपुर,मसहां, सिकटौटी,एकडेरवा, बाराबांध,निहालपुर, चाफी,पड़वार,बदनपूरा सहित दर्जनों गांव के बांशिदों ने जनऊपुर में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खोलने की मांग की है, ताकि उन्हें विभिन्न बैंकिंग सुविधाओं का लाभ आसानी से मिल सके। जनऊपुर निवासी 82 वर्षीय सेवानिवृत्त शिक्षक प्रेम नारायन पाण्डेय ने बताया कि सेहत ठीक नही रहती है और उम्र के इस पड़ाव पर दूरी तय करके बैंक जाना मुश्किल हो गया है। एकडेरवा निवासिनी रंभा ने बताया कि पीएमजेएसवाई के तहत जननी सुरक्षा योजना का खाता आठ किमी दूर खुलवाया गया है। इससे कन्या सुमंगलम योजना सहित अन्य लाभों को मिलने में काफी दिक्कत होती है। क्षेत्र के ग्रामीणों ने शासन से न्याय पंचायत जनऊपुर में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खुलवाने की मांग की है।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments