Breaking News

Akhand Bharat

विश्व पर्यावरण दिवस पर रिटायर्ड फौजी बब्बन पाण्डेय ने पर्यावरण संरक्षण के प्रति प्रति लोगों में जगाई अलख,संस्थाएं भी देने लगी इनका साथ


 


रतसर (बलिया):एक वृक्ष सौ पुत्र समान के नारे को आत्मसात कर समर्पण की भावना से प्रतिदिन पौधारोपण कर जनऊपुर गांव निवासी सेवानिवृत्त फौजी बब्बन पाण्डेय पर्यावरण संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक कर रहे है। प्रतिदिन एक पौधा लगाना अपनी नियति बना लिया है। फौज में नायब सुबेदार के पद से सेवानिवृत्त के बाद बब्बन पाण्डेय ने गांव के प्राथमिक विद्यालय, ऐतिहासिक धरोहर गांधी चबुतरा,पोखरे एवं गांव में पड़ी खाली जमीन के परिसर में हरिशंकरी पौधों के साथ ही जामुन, छतिवन,आंवला,नीम, बरगद,पीपल,पाकड़ आदि पौधों का रोपण किया है इसके साथ ही गांव के प्राथमिक विद्यालय परिसर में फूलों की मनोहारी वाटिका तैयार की है जो गांव में आकर्षण का केन्द्र बन चुका है। सुबह उठकर एक पौधा लगाना उनके जीवन की दिनचर्या बन चुकी है। पौधों की सुरक्षा से लेकर खाद,पानी तक व्यवस्था करते है जब तक पौधा जानवरों आदि की पहुंच से दूर न हो जाए। उनकी इस मुहिम से प्रेरणा लेकर क्षेत्र की परशुराम युवा मंच,जनऊबाबा साहित्यिक संस्था निर्झर आदि संस्थाओं के युवा भी उनका भरपूर सहयोग देने लगे है। फौजी बब्बन पाण्डेय बताते है कि वैश्विक स्तर पर निरंतर बढ़ रहे तापमान को हम इन्हीं पेड़-पौधों के जरिये नियन्त्रित कर सकते है। हम सभी आज पौध रोपित कर कल सुखद भविष्य का निर्माण कर सकते है। उनके इस मिशन से गांव के ही नहीं बल्कि क्षेत्र के लोगों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता आने लगी है। पर्यावरण संरक्षण के मिशन में परशुराम युवा मंच के अध्यक्ष सक्षम पाण्डेय,आशीष मिश्रा, हीरालाल पाण्डेय,पवन पाण्डेय,प्रमोद शर्मा, बब्बन जी,गौरव कुमार, पुन्नू शर्मा आदि युवाओं का भरपूर सहयोग रहता है।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments