Breaking News

Akhand Bharat

सपनों के लगे पंख, ग्रामीणों की उम्मीदों ने भरी उड़ान


 




रतसर (बलिया):उत्तर- प्रदेश सरकार ने ग्रामीणों को एक बड़ा तोहफा दिया है। रविवार की सुबह प्रत्येक ग्राम पंचायत में योगी सरकार द्वारा एक बारात घर एवं एक अंत्येष्टि स्थल के निर्माण का प्रस्ताव तैयार करने की खबर प्रकाशित हुई तो विकास खण्ड गड़वार की न्याय पंचायत जनऊपुर के ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, क्योंकि अब उनमें उम्मीद जग गई है कि उनके वर्षों पुराने सपने की जमीनी स्तर पर साकार होने का समय आ गया है। गांव के पूर्व दिशा में खलिहान की खाली पड़ी जमीन जिसके मध्य में एतिहासिक धरोहर गांधी चबूतरा स्थित है। दीपावली के दिन मेला लगता है। शेष समय जमीन खाली पड़ी रहती थी। मेले आयोजन के साथ गांव के युवाओं ने इसी परिसर के एक हिस्से में शादी-विवाह एवं अन्य मांगलिक कार्यंक्रमों के लिए एक सामुदायिक भवन बनाने और अतिक्रमण से इस जमीन को बचाने के लिए पौधारोपड़ कराया गया है। इसके लिए कई बार ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन से गुहार भी लगाई थी। योगी सरकार के ग्राम्य विकास विभाग द्वारा प्रत्येक ग्राम पंचायत में बारात घर एवं अंत्येष्टि स्थल के लिए क्रमश : 30 लाख एवं 24.36 लाख का प्रस्ताव तैयार होने की खबर से ग्राम प्रधान जितेन्द्र कुमार सहित ग्रामीण गदगद है। ग्राम प्रधान जितेन्द्र कुमार का कहना है कि ग्रामीण इलाकों को पुरानी आबाद वाले क्षेत्रों अब पर्याप्त जमीन नही है जिस कारण सक्षम ग्रामीण रतसर,गड़वार,सुखपुरा तथा बलिया में मांगलिक कार्यक्रमों के लिए गेस्ट हाउस बुक कराते है जिसके लिए उन्हें एक से तीन लाख रुपए तक अदा करना पड़ता है। ग्रामीण स्तर पर ऐसी सुविधा हो जाने से अमीर-गरीब सबको समान रूप से लाभ मिल सकेगा। बताते चलें कि इस दिशा में पिछली मायावती सरकार ने नगर पंचायतों एवं नगर पालिका परिषदों एवं नाम मात्र की गिनी चुनी ग्राम पंचायतों में सामुदायिक भवन के नाम से मांगलिक कार्यक्रम स्थलों का निर्माण कराया था किन्तु अब जबकि प्रत्येक ग्राम पंचायत में अनिवार्य रूप से ऐसा निर्माण कार्य कराने का प्रस्ताव तैयार किया है तो प्रत्येक ग्राम पंचायत की जनता को समान रूप से इस सुविधा का लाभ मिल सकेगा। तेजी से बढ़ती जनसंख्या के लिए आगामी वर्षों में इन स्थलों की प्रासंगिकता और बढ़ती जाएगी।

रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments