Breaking News

Akhand Bharat

रामलीला : फूलवारी प्रसंग का मंचन देख दर्शक हुए प्रफुल्लित

 



रतसर (बलिया) कस्बे में चल रही रामलीला में शुक्रवार को जनकपुरी में फूलवारी का मंचन किया गया। मंचन देख दर्शक भाव विभोर हो गए। जनक नंदिनी सीता व अष्ट सखी संवाद को सुनने के लिए दर्शकों की भीड़ रामलीला चबूतरे पर डटी रही। जैसे ही प्रभु श्रीराम अपने अनुज लक्ष्मण एवं गुरु विश्वामित्र के साथ जनकपुरी स्थित फूलवारी घूमने मंच पर आए दर्शकों के जय श्रीराम के जयघोष से पूरा लीलास्थल गूंज उठा। फूलवारी में उत्तरी छोर पर स्थित मां गिरिजा का अति शोभायमान मंदिर है। जहां जनक नंदिनी जानकी अपनी सखियों के साथ गौरी पूजन के लिए आती है। जहां एक बावरी सखी राम और लक्ष्मण की सुंदरता को देखकर मुर्छित हो जाती है और जाकर सीता से प्रभु श्रीराम के सुंदरता का बखान करती है। यह सुनकर सीताजी के भी मन में श्रीराम को देखने की इच्छा जागृत हो जाती है। सीता जी जब प्रभु श्रीराम के रूप और सौंदर्य को देखती हैं तो मोहित हो जाती हैं। यही स्थिति प्रभु श्रीराम के मन में भी पैदा होती है। दोनों कुछ देर तक एक दूसरे को देखते हैं। तत्पश्चात मां गिरिजा का पूजन करने के बाद सीता जी पुनः महल को लौट जाती हैं और प्रभु श्री राम और लक्ष्मण पुष्प लेकर विश्वामित्र के यहां आश्रम में पहुंच जाते है। मंच पर विराजमान रामायणी के सधे स्वर का भरपूर आनंद दर्शकों ने लिया। कलाकारों के बेहतरीन संवाद,संगीत और अभिनय से लीला मंचन में चार चांद लग गया।


रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments