Breaking News

Akhand Bharat

जनऊपुर में हनुमत जयंती के वर्षगांठ पर चल रहे नारदी मुकाबला के बीच गोली चलने से मचा हड़कंप,जांच में जुटी पुलिस




रतसर (बलिया) क्षेत्र के जनऊपुर गांव में झण्डा समिति के तत्वाधान में दीपावली पर्व पर हनुमत जयंती की 72 वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनाई गई। दो दिवसीय कार्यक्रम के प्रथम दिन सायंकाल रामनाम संकीर्तन का आयोजन किया गया था वहीं दूसरे दिन संगीतमय प्रवचन में मानस किंकर संत बालक दास ने हनुमान जी की महिमा का वर्णन किया। कहा कि जिस प्रकार मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम दीनों पर दया करने वाले कृपा के सागर हैं उसी तरह उनके भक्त हनुमान भी शरण में आए भक्तों पर अपना स्नेह दिखलाते हैं। इसके पूर्व मुख्य अतिथि कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव विवेकानन्द पाठक एवं फेफना विधान सभा कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी जैनेन्द्र पाण्डेय ने रात्रि में फीता काटकर नारदी मुकाबला की शुरुआत की। दो दलीय नारदी मुकाबला के क्रम में कुंवर कमलवास ( बिहार ) एवं कमलेश देहाती के बीच गायन का कार्यक्रम चलता रहा। वहीं दिन में गाजे-बाजे के साथ हनुमान जी की भव्य शोभायात्रा निकाली गई ।

-----------------------

नारदी मुकाबला के बीच अचानक चली गोली से मचा हड़कंप :

रात्रि में नारदी मुकाबला के बीच अचानक गोली चलने से हड़कंप मच गया। जो जहां था वहीं से इधर-उधर भागने लगा। आयोजक मंडल ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी। मौकें पर पर पहुंची पुलिस ने कार्यक्रम को बन्द करा दिया और जांच में जुट गई। जानकारी के अनुसार रात्रि में बिहार के नारदी गायक कुंवर कमलवास साढ़े नौ बजे के करीब सुमिरन गाने के लिए मंच पर चढ़े उसी समय कुछ युवक उन्हें पुरस्कार देने के लिए मंच पर चढ़ गए और पुरस्कार तथा माला पहनाकर उनका स्वागत कर मंच से उतर कर तुरंत अवैध असलहे से फायरिंग कर दिया। जिससे गायक कुंवरवास बाल-बाल बच गए। इस घटना से पंडाल में हड़कंप मच गया। घटना के 12 घंटे बाद पहुंचे गड़वार एसओ राजकुमार सिंह ने झंडा समिति के आयोजक मंडल पर दबाव बनाने लगे। लोगों का कहना है कि इतनी बड़ी घटना हुई और इसके लिए आयोजकों ने उपजिलाधिकारी से कार्यक्रम की अनुमति लिया था। लेकिन हजारों की संख्या में जुटी भीड़ के बीच प्रशासन का मौजूद न रहना कहीं न कहीं पुलिस की लापरवाही उजागर करती है।



रिपोर्ट : धनेश पाण्डेय

No comments