Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

एक चिकित्साधिकारी पर है ढ़ाई लाख आबादी की स्वास्थ्य की जिम्मेदारी



रेवती (बलिया) सीएचसी रेवती में विशेषज्ञ चिकित्सकों के आधा दर्जन पद हैं किन्तु वर्तमान में मात्र एक चिकित्साधिकारी पर ढ़ाई लाख आबादी की स्वास्थ्य की जिम्मेदारी वहन करना पड़ रहा है। निवर्तमान अधीक्षक डॉ रोहित रंजन का यहां से सुखपुरा सीएचसी पर स्थानांतरण कर दिया गया है। उनके स्थान पर अभी किसी अधीक्षक की नियुक्ति नहीं हो पायी है। एक मात्र चिकित्साधिकारी डॉ दिनेश सिंह को ओपीडी, मेडिकल के साथ बार बार मिंटिंग भी देखना पड़ रहा है। ऐसे में चिकित्सा कार्य प्रभावित हो रहा है। कहने के लिए आयुष के चिकित्सक के पद पर डा. अनिता यादव, एक के वर्मा तथा अब्दुल फैज कार्यरत हैं। इसमें डा. अनिता सप्ताह में तीन दिन रेवती वह तीन दिन सोनबरसा ड्यूटी करती है। रात में किसी चिकित्सक के न रहने पर इमरजेंसी का कार्य क्रमशः फार्मासिस्ट अशोक कुमार यादव , संदीप शर्मा व राजकुमार देखते हैं। एक्सिडेंटल केश व गंभीर रूप से पीड़ित मरिजों का तत्काल बलिया के लिए रेफर कर दिया जाता है। सीएचसी पर एक्सरे  तथा सीबीसी जांच की सुविधा नहीं होने से गरीब मरिज को व्यर्थ में अतिरिक्त धन खर्च करना पड़ता है। ओपीडी में प्रतिदिन लगभग 200 सौ मरिज आते हैं । इसमें वायरल फीवर बुखार से पीड़ित अधिकांश टाईफाइड तथा प्लेटलेट्स की कमी से पीड़ित मरिज हैं। जो प्राईवेट में इधर उधर इलाज कराने के लिए विवश है। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल रेवती के अध्यक्ष वीरेंद्र गुप्ता, महामंत्री राजेश केशरी गुड्डू सहित क्षेत्रवासियों ने मुख्य जिला चिकित्साधिकारी बलिया व क्षेत्रीय विधायक केतकी सिंह सीएचसी रेवती पर चिकित्सा उपकरणों के साथ अधीक्षक व विशेषज्ञ चिकित्सकों की नियुक्ति की मांग की हैं।


पुनीत केशरी

No comments