Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

सात बार फेल हुआ ट्यूमर का ऑपरेशन तब मां के प्रसाद ने दिखाया चमत्कार

 





बलिया। यह किसी आश्चर्य से कम नहीं कि किसी महिला का ट्यूमर का सात बार आपरेशन हुआ और फेल हो गया तथा बाद में डाक्टर उसे कैंसर घोषित कर कुछ दिनों का मेहमान बताएं और वह महिला पकड़ी धाम काली मंदिर के पुजारी राम बदन भगत द्वारा दी गई जड़ी बूटियों और जलकुंभी के फल के सेवन न सिर्फ स्वस्थ हो जाएं बल्कि पिछले 13 वर्ष से मां काली की सेवा में जुटी हों।



हम बात कर रहे हैं मऊ जिले के कंसों गांव निवासी सत्य सिंह पत्नी सिकंदर सिंह की। सत्य को पेट में ट्यूमर हुआ तो डॉक्टर में एक के बाद एक साथ ऑपरेशन कर डाले लेकिन ट्यूमर ठीक होने की बजाए बढ़ता ही जाता था। इससे परेशान होकर सत्य में मुंबई दिल्ली समेत तमाम बड़े शहरों के अस्पतालों में अपना उपचार कराया, लेकिन राहत मिलने की बजाय उसकी परेशानी लगातार बढ़ती जा रही थी। बाद में डाक्टरों ने उसके मर्ज को कैंसर घोषित कर उसे कुछ दिन का मेहमान बता दिया। अपनी आपबीती सुनाते हुए सत्य बताती है कि वह बलिया के एक चैरिटेबल हॉस्पिटल में इलाज करने के लिए आए थे इस दौरान एक महिला मिली जिसने उसे पकड़ी काली धाम जाने और मां काली की पूजा करने की सलाह दी। इसके बाद वह महिला गायब हो गई। जब मैं पकड़ी धाम आई तो वह महिला यहां भी मुझे दिखाई दी। बताया कि मंदिर के पुजारी राम बदन भगत को मैंने आप बीती बताई तो उन्होंने मां के प्रसाद के साथ कुछ औषधियां सेवन करने के लिए दी। जिसके सेवन से जानलेवा बनी बीमारी ट्यूमर की बीमारी सहजता से दूर हो गई और वर्ष 2011 से मैं निरंतर मां काली के मंदिर में अपनी हाजिरी लगा रही हूं।



डेस्क

No comments