Breaking News

Akhand Bharat welcomes you

सनबीम स्कूल बलिया में विद्यार्थियों को कराई जाएगी एनडीए और एसएसबी की तैयारी





बलिया : कक्षा बारहवीं की परीक्षा पास करना एवं उसके पश्चात नवीन शिक्षा पथ का चयन करना एक विद्यार्थी के लिए सबसे बड़ी चुनौती है, जिसमे उचित मार्गदर्शन द्वारा कई विद्यार्थी सफलता प्राप्त करते हैं तथा कई ऐसे भी विद्यार्थी हैं जो समाज में फैली भ्रांतियों के कारण सही पथ नहीं चुन पाते।

विद्यार्थियों की इन्हीं कठिनाइयों को देखते हुए बलिया के सनबीम स्कूल ने विद्यार्थियों के हित में एक नवीन पहल शुरू की है। वह विद्यार्थी जो कक्षा बारहवीं के पश्चात सेना में भर्ती होना चाहते हैं उनके लिए विद्यालय प्रांगण में एनडीए एवं एसएसबी की उचित तैयारी हेतु प्रशिक्षण प्रदान करेगा।

इससे पूर्व भी विद्यालय द्वारा अपने विद्यार्थियों के हित में अनेक सराहनीय कार्य किए गए हैं।


विदित हो कि दिनांक 18 जून को  विद्यालय प्रांगण में उक्त विषय से संबंधित कक्षा ग्यारहवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों हेतु एक कार्यशाला आयोजित की गई थी, जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में एनसीसी के कर्नल डीएस मलिक,कर्नल पुनिया तथा दिल्ली से आए श्री दीपक कुमार प्रसाद उपस्थित थे। कार्यशाला में उपस्थित सभी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए वक्ताओं  ने विद्यार्थियों को समाज में फैली विभिन्न भ्रांतियों से अवगत कराया। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि बारहवीं में 75% अंक तथा जेईई में 75 या उससे अधिक पर्सेंटाइल प्राप्त करके एसएसबी में सीधे प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं तथा इंजीनियरिंग की पढ़ाई को पूर्ण कर सकता हैं। ऐसे और भी कई समाधान और सुझाव विद्यार्थियों को दिए गए जिससे बच्चे अनभिज्ञ हैं।


इस अवसर पर विद्यालय के निदेशक डॉ कुंवर अरुण सिंह ने कहा कि कक्षा बारहवीं के पश्चात बच्चे आगे की पढ़ाई करने के लिए अपने माता पिता एवं घर से दूर नए शहर में जाते हैं जहां उन्हें अनगिनत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।इसलिए विद्यालय द्वारा इस समस्या को ध्यान में रखते हुए विद्यार्थियों के हित में इस कार्य का पहल किया गया है जिससे बच्चे अपने माता पिता के संरक्षण में रहकर ही उचित प्रशिक्षण पा सकें।

 श्री सिंह ने कहा कि विद्यालय सदैव विद्यार्थी हित में कार्य करने हेतु तत्पर रहता है और आगे भी रहेगा। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के कक्षा 12वीं की छात्रा संस्कृति गुप्ता ने किया।



By- Dhiraj Singh

No comments