Breaking News

देश और प्रदेश में रोटी और लंगोटी की सरकार: सुरेन्द्र सिंह



नगरा, बलिया । बैरियां के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कोरोना वाले बयान पर नेता प्रतिपक्ष पर जम कर हमला बोला। कहा कि जिसके जीवन में रोने के सिवा कुछ बचा ही नही हो वो कोरोना के अलावा कुछ सोच ही नही सकता। वे गोंठवा नगरा में रविवार को आयोजित होली मिलन समारोह में बोल रहे थे। कहा कि सपा सरकार में जब नेता प्रतिपक्ष को बेसिक शिक्षा विभाग से हटाकर क्रीडा मंत्री बनाया गया उसी समय यदि उनके जेहन में लेश मात्र भी स्वाभिमान होता तो सपा को अलविदा कह दिए होते। कांग्रेस व सपा को परिवारवादी पार्टी बताया तो बसपा पर तंज कसते हुए कहा कि इस पार्टी का सिद्धांत है माल काटो , माल बांटो , तब बसपा का पर्चा साटो। कहा कि कांग्रेस में राजनिति की जमीदारी चलती है। इसका प्रमाण है नेहरु के बाद इंद्रिरा, इनके बाद राजीव तो फिर राहुल। राहुल के बाद भी अचानक कोई आकर कह देगा हम राहुल के पुत्र है। विधायक की जुबान फिसली तो यहां तक कह दिया कि राहुल का बेटा कही ईटली में खेल रहा होगा। विधायक ने कहा कि अब प्रदेश में बोटी व बोतल की सरकार का जमाना लद चुका है अब यहां रोटी व लंगोटी की सरकार चल रही है। कहा कि हमारे देश के नेताओं ने राजनिति की परिभाषा ही बदल दिया था। मंहगे लिबास, मंहगा जूता, घडी व बेसकीमती गाडी पर चलना नेताओं का फैशन बन गया था। इस देश की जनता ने एक चाय वाले को पीएम बना कर यह साबित कर दिया कि अब भारत में रोटी व लंगोटी की पूजा होगी। भाजपा के प्रदेश मंत्री शंकर गिरी ने कहा कि गैर भाजपा सरकारों ने देश व प्रदेश को जी भर कर लूटा।  हमारे प्रधानमंत्री ने कहा कि न हम खाएंगें, न खाने देगें। आज भाजपा की केंद्र व प्रदेश की सरकार में कोई मंत्री या विधायक ऐसा नही है जिस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा हो। भाजपा के जिला मंत्री आलोक शुक्ल ने कहा कि होली केवल रंगों का त्योहार नही ब्लिक दिलों के मिलने का पर्व है। दुःख इस बात का है कि अब इस पर्व पर पाश्चात्य सभ्यता हाबी हो रही है। सर्व प्रथम कार्यक्रम के आयोजक मृत्युंजय गिरी ने विधायक व प्रदेश मंत्री सहित अन्य नेताओं को स्मृति चिंह , अंगवस्त्रम से सम्मानित किया। इस मौके पर राजीव सिंह चंदेल, सतवीर सिंह , विनोद तिवारी, जितेंद्र गिरी, धनंजय गिरी, संतोष गिरी, कालिका गिरी, गुड्डू तिवारी, राजू सोनी, जयप्रकाश जायसवाल, मनीष सिंह , पंकज , शशि जायसवाल आदि मौजूद रहे।  अध्यक्षता रामसकल तिवारी व संचालन राजकुमार भंडारी ने किया। आभार प्रकट आयोजक मृत्युंजय गिरी ने किया। मशहूर लोक गायक कमलेश देहाती व उनकी  टीम ने होली गीतों से समां बांधा।

                             
रिपोर्ट : संतोष द्विवेदी

No comments