Breaking News

भगवान के भजन से ही सुख शांति प्राप्त होती है : हरिहरा नन्द जी महाराज


मनियर, बलिया । यदि मनुष्य  लोभ, मोह व अहंकार को त्याग कर नियमित, निष्ठा व भाव से भगवान का भजन करे  तो आवश्य ही भगवान को प्राप्त किया जा सकता है।और तभी सुख शांति की प्राप्ति की जा सकती है। उक्त बातें श्री श्री 1008 हरिहरा नन्द जी महाराज जी ने नोजा कान्वेंट स्कूल छितौनी मनियर के प्रांगण में चौबीस घंटे से चल रहे अखण्ड हरिकीर्तन के सोमवार को पूर्णाहुति के बाद उपस्थित भक्तो में अपने प्रबचन के दौरान कही। कहा कि सुख शांति की ईच्छा सबको होती है।सुख शांति कहाँ मिले उसके लिए इधर-उधर भटकता है। लेकिन सुख शांति कैसे मिलेगा मनुष्य भटकते भटकते  माया के जाल के फंसकर भगवान का भजन भूल जाता है। कहा कि दुनिया में हर एक चीज छुट जाय लेकिन नियमित पूजा व भगवान का भजन नहीं छूटना चाहिए।भगवान भाव के भूखे हैं वे अपने भक्त का अनहित कभी नही चाहते हैं।नियमित पूजा, भाव से भजन पर ही सुख शांति मिलता है। इस दौरान हरिहरा नन्द जी ने नारद मोह की कथा को भी विस्तार पूर्वक सुनाया। कथा सुनकर श्रोता भाव विभोर हो गये।



रिपोर्ट : राममिलन तिवारी

No comments