Breaking News

> > >

सभी यात्री ट्रेन सेवाएं 3 मई तक रद्द


रसड़ा(बलिया) मंगलवार 14 अप्रैल सुबह 10 बजे भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देश के नाम सम्बोधन मे वैश्विक महमारी कोरोना के मद्देनजर 3 मई 2020 तक सभी यात्री ट्रेन सेवाएं रद्द कर दी गईं। यूटीएस और पीआरएस सहित बुकिंग के सभी टिकट काउंटर अगले आदेश तक निलंबित रहेंगे।
हालांकि, अगले आदेश तक, ई टिकट सहित ट्रेनों के टिकटों का कोई अग्रिम आरक्षण नहीं है, ऑनलाइन रद्दीकरण की सुविधा कार्यात्मक बनी रहेगी ।  रद्द की गई ट्रेनों के आरक्षण के लिए पूर्ण धन वापसी होगी । जिन ट्रेनों को अभी तक कैंसिल नहीं किया गया है, उन ट्रेनों के अग्रिम टिकट  बुकिंग रद्द करने पर भी पूर्ण धन वापसी की जाएगी।
COVID-19 लॉकडाउन के मद्देनजर किए गए उपायों की निरंतरता में, यह निर्णय लिया गया है कि भारतीय रेल पर सभी यात्री ट्रेन सेवाएं जिनमें प्रीमियम ट्रेनें, मेल / एक्सप्रेस ट्रेनें, यात्री ट्रेनें, उपनगरीय ट्रेनें, कोलकाता मेट्रो रेल, कोंकण रेलवे आदि शामिल हैं, 3 मई 2020 तक रद्द  रहेंगी ।
देश के विभिन्न हिस्सों में आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए माल और पार्सल गाड़ियों की आवाजाही बनी रहेगी। यूटीएस और पीआरएस के लिए टिकट बुकिंग के सभी काउंटर अगले आदेश तक निलंबित रहेंगे। 03 मई के बाद भी, अगले आदेश तक, ई टिकट सहित सभी प्रकार की बुकिंग रद्द रहेगी ।  टिकट बुकिंग के लिए ऑनलाइन रद्दीकरण की सुविधा कार्यात्मक रहेगी।  जहां तक ​​3 मई तक रद्द की गई ट्रेनों का सवाल है, रेलवे द्वारा रिफंड स्वचालित रूप से ग्राहकों को ऑनलाइन किया जाएगा, जबकि जिन लोगों ने काउंटरों पर बुक किया है, रिफंड 31 जुलाई तक लिया जा सकता है। रद्द की गई ट्रेनों की बुकिंग के लिए टिकटों का पूरा रिफंड दिया जाएगा।
उन अग्रिम बुकिंग वाले टिकटों के रद्दीकरण की भी पूर्ण वापसी होगी, जिन ट्रेनों को अभी तक  रद्द नहीं किया गया है।
यह जानकारी अखण्ड भारत न्यूज संवाददाता पिन्टू सिंह को 
जन सम्पर्क अधिकारी, वाराणसी
अशोक कुमार ने बताया।
अधिक जानकारी के लिए रेलवे के हेल्फ लाईन नम्बर पर सम्पर्क करें ।
यह खबर जनहितकारी मे अखण्ड भारत न्यूज जनहित में जारी ।


रिपोर्ट : पिन्टू सिंह

No comments