Breaking News

> > >

राशन पानी के लिए तरस रहे गरीब


सिकन्दरपुर (बलिया) क्षेत्र के नवानगर ब्लॉक के सामने स्थित कांशीराम शहरी गरीब आवास योजना पॉकेट सिकन्दरपुर के 72 गरीब परिवार लॉकडाउन के बीच पानी व राशन की गुहार लगा रहें हैं। कॉलोनी की निवासी सीमा देवी, रुखसाना बेगम, संगीता देवी, शैल कुमारी, शोभा आदि ने बताया कि जिस ट्रांसफार्मर से पानी का मोटर चलता हैं वह पिछलें एक साल से जला पड़ा हैं। जिसकी सुध आज तक किसी ने नहीं लिया। अब स्थिति ये हैं कि सभी कॉलोनीवासियों को जमीन में गड़े हैण्डपम्प द्वारा पानी भरकर कॉलोनी के तीसरें मंजिल तक ले जाना पड़ता हैं। वही कॉलोनी के निवासी शमशेर, रामाशंकर, गुड्डू, निजामुद्दीन, आनंदी बाबा, रजिन्दर, गोविन्द राम, अच्छेलाल तुरहा आदि ने बताया कि अनगिनत बार इस संबंध मे नगर चेयरमैन, विधायक व प्रशासन से इसकी शिकायत की गई। पर हम गरीबों की आवाज़ को सुनता ही कौन हैं। शिकायत के बावजूद भी परिणाम वहीं निकला ढ़ाक के तीन पात।
कॉलोनी के निवासियों का कहना है कि हमारे कॉलोनी में कोई भी सफाई कर्मचारी नहीं आता जिसके वजह से कॉलोनी में गंदगी का अंबार लगा रहता है। वही हैंडपंप से पानी भर कर तीन मंजिल तक पहुंचाने में आए दिन कोई ना कोई महिला पुरुष गिरकर घायल होता रहतें है। कॉलोनी वासियों ने  बताया कि इस कोरोना महामारी में हमारे सभी काम धंधे बंद पड़े हुए हैं। घर में खाने तक को लाले पड़े हैं। इसके बावजूद भी शासन-प्रशासन या जनप्रतिनिधियों द्वारा हम गरीबों को किसी प्रकार की भी राहत सामग्री अभी तक नहीं मिली है। कॉलोनी वासियों ने इस बारे में शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराया है।



रिपोर्ट-हेमंत राय

No comments