Breaking News

भारतीय संस्कृति के मानस पुरुष थे भगवान परशुराम : अरविंद गिरी


दुबहर, बलिया : भगवान विष्णु के छठे अवतार परशुराम जी की जयंती समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष अरविंद गिरी जी के दिशा निर्देश में लाक डाउन व सामाजिक दूरी का पालन करते हुए सादगी के साथ मनाई गई। दूरभाष पर पत्र प्रतिनिधियों को अरविंद गिरी ने बताया कि भगवान परशुराम चारों वेदों के ज्ञाता व परम पितृ भक्त के साथ साथ भक्ति व शक्ति के प्रतीक  थे ।पितृ भक्ति के कारण ही उन्हें युद्ध कला व चारों वेदों में दक्षता हासिल थी ।भगवान परशुराम के विचारों को अपने जीवन व  आचरण में उतारने की आवश्यकता है ।कहा कि भगवान परशुराम के जन्म का उद्देश्य धर्म संस्थापन व समाज मे समरसता कायम करना था। ,कहा कि उनके विचारों का अनुसरण करने की आवश्यकता है!
उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ साथ आम लोगों से अपने अपने घरों में रहने के साथ-साथ लाक डाउन का गंभीरतापूर्वक पालन करने व  सामाजिक दूरी बनाकर रहने की अपील की।
इस मौके पर सुधांशु मिश्र ,शेखर चौबे ,गोलू दुबे ,राधेश्याम पाठक,मुन्ना गिरी ,राजकुमार गिरी ,हिमांशु पाठक,रमन पाठक ,आदि लोग रहें।



रिपोर्ट : नितेश पाठक 

No comments