Breaking News

चेतावनी : अम्फान चक्रवात से भारी बारिश की आशंका, 20 मई को बंगाल के सागर द्वीप से टकराएगा, एनडीआरएफ की 17 टीमें तैनात

  • अम्फान चक्रवात तेज गति से  उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। अगले 12 घंटे में यह यह तेज तूफान में बदल जाएगा। इससे ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी बारिश होने की आशंका है।अम्फान चक्रवात तेज गति से उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। अगले 12 घंटे में यह यह तेज तूफान में बदल जाएगा। इससे ओडिशा और पश्चिम बंगाल में भारी बारिश होने की आशंका है।

  • #तूफान 20 मई को दोपहर से शाम के बीच बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के हटिया द्वीप को पार सकता है
  • #ओडिशा सरकार ने केंद्र से 18 मई से तीन दिन के लिए विशेष श्रमिक ट्रेनें नहीं चलाने का अनुरोध किया

भुवनेश्वर. महामारी के संकट के बीच बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान अम्फान ओडिशा और पश्चिम बंगाल की मुश्किलें बढ़ा सकता है। भारतीय मौसम विभाग कोलकाता के रीजनल डायरेक्टर जीके दास के मुताबिक, अम्फान 3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है। 12 घंटे में यह तेज तूफान में बदल जाएगा। तूफान 20 मई को दोपहर से शाम के बीच बंगाल के सागर द्वीप और बांग्लादेश के हटिया द्वीप को पार कर सकता है। च्रकवात के असर से ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में तेज हवाएं और भारी बारिश की आशंका है।

तूफान का केंद्र ओडिशा के पारादीप से 980 किमी. दक्षिण,पश्चिम बंगाल के दीघा से 1,30 किमी. दक्षिण-पश्चिम और बांग्लादेश के खेपुपारा से 1,250 किमी. दक्षिण पश्चिम में है। इसके असर से बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्से में सोमवार सुबह 150 किमी प्रति घंटा, मध्य हिस्से में 190 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

तूफान से पश्चिम बंगाल का 24 उत्तर और दक्षिण परगना, कोलकाता, पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर, हावड़ और हुगली में तेज बारिश हो सकती है। ओडिशा में गजपति, गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, बालासोर, भ्रदक, मयूरभंज और क्योंझर जिले में गरज-चमक के साथ कम तीव्रता की बारिश हो सकती है। राज्य के तटीय क्षेत्रों में मंगलवार और बुधवार को भारी बारिश हो सकती है। ओडिशा सरकार ने केंद्र से 18 मई से तीन दिन के लिए विशेष श्रमिक ट्रेनें न चलाने का अनुरोध किया है।

एनडीआरएफ ने पश्चिम बंगाल में 10 और ओडिशा में 7 टीमें तैनात की हैं। एनडीआरएफ के डायरेक्टर जनरल एसएन प्रधान ने बताया- ओडिशा में 10 टीमों को 7 जिलों में भेजा गया है। 7 टीमों को बंगाल के 6 जिलों में भेजा गया है। 10 टीमों को स्टैंडबाय रखा गया है। हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। 21 सदस्यों वाली एक टीम को पारादीप में भी तैनात किया गया है। टीम के सदस्य कटर, बोट चेन और राहत और बचाव कार्य के लिए जरूरी सभी सामान के साथ पहुंचे है. साभार- डीबी





डेस्क

No comments