Breaking News

स्वाद के बूते विदेशियों को भी दीवाना बना रहा बलिया का यह डिश


रसड़ा (बलिया): यूपी के पूर्वी छोर पर बसा उत्तर प्रदेश का जिला बलिया, ज़ी हां बताते चलें कि चाहें आजादी की लड़ाई हो या दिल्ली के राजनैतिक गलियारों में बागी बलिया का कंद हमेशा ऊंचा रहा हैं। बलिया जिले के ऐतिहासिक व्यंजन लिट्टी चोखा की इन दिनों इंटरनेशनल डिश में शामिल हो चुका है। यादगार पल   जब पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी जब भी अपने आवास यानी बलिया स्थित झोपड़ी पर जब भी रुकते थे तो लिट्टी चोखा जरुर बनता था और उसे खाने के लिए लोगों की भीड़ लगती थी यही कारण है कि लिट्टी चोखा का क्रेज जो पूर्व में था आज भी आधुनिक व डिजिटल युग में बरकरार है बल्कि यूं कहें कि आधुनिकता या फिर फास्ट फूड के इस दौर में इसकी डिमांड और बढ़ गई है। 

जनपद के ग्रामीण व शहरी इलाकों में हर छोटी-बड़ी चौराहे पर कुछ मिले या ना मिले लेकिन लिट्टी चोखा की दुकान बलिया में जरूर मिलेगी। यही कारण है कि यूपी-बिहार ही नहीं बल्कि अब लिट्टी चोखा ने अपना स्थान गाजीपुर , आजमगढ़,बनारस, गोरखपुर लखनऊ, इलाहाबाद, कानपुर, गाजीयाबाद ,नोयडा , दिल्ली सहित इंटरनेशनल डिश में जगह बना लिया है। स्वाद के बूते विदेशों तक पहुंच बनाने में कामयाब है। आलम यह है कि हर दिन इसके दीवानों की लिस्ट लगातार बढ़ती जा रही है। 

यही कारण है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के गरीब लोगों का मुख्य भोजन लिट्टी चोखा कभी गरीब लोगों का मुख्य भोजन था। वहीं लिट्टी चोखा आज बड़े लोगों की पार्टी में शाही भोजन बनता जा रहा है। बड़ी बड़ी पार्टियों में भी इसको मुख्य डिश में शामिल किया जा रहा है। देश के बड़े फिल्म जगत के अभिनेता हो या दिल्ली का  राजनेता आज लिट्टी चोखा सबकी पसंद बना है।



रिपोर्ट पिन्टू सिंह

No comments